दरभंगा रेलवे स्टेशन पर ब्लास्ट, NIA कर सकती है जांच

पाक खुफिया एजेंसी ISI का हाथ!

पटना

बिहार के दरभंगा रेलवे स्टेशन पर हुए ब्लास्ट की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे इसमें नई जानकारी सामने आ रही है। अब तक की जांच में धमाके के पीछे बड़ी आतंकी साजिश और इसके तार पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से जुड़े होने के पुख्ता सबूत हाथ लगे हैं। ऐसी संभावना है कि इस ब्लास्ट की जांच एनआईए कर सकती है। इस साजिश में शामिल संदिग्धों के बिहार, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश से होने की वजह से जांच की जिम्मेदारी राष्ट्रीय जांच एजेंसी को सौंपी जा सकती है।

धमाके की वजह से धरी रह गई साजिश

तेलंगाना के सिकंदराबाद स्टेशन से एक पार्सल ट्रेन से दरभंगा भेजा गया था। 17 जून को जब पार्सल उतारा जा रहा था तभी प्लेटफॉर्म पर कम क्षमता का एक धमाका हुआ। धमाके की वजह किसी को समझ में नहीं आई। जीआरपी के बाद इसकी जांच में एटीएस और एफएसएल को लगाया गया। पार्सल में कपड़ों के अलावा एक शीशी थी, जिसमें कुछ केमिकल होने की बात सामने आई है। शीशी में कौन सा केमिकल था और उसका इस्तेमाल किन चीज में हो सकता है इसका खुलासा अभी नहीं किया गया है। शीशी और उससे लिए गए नमूने को जांच के लिए एफएसएल हैदराबाद भेजा गया है। साजिशकर्ताओं का मकसद पार्सल की आड़ में केमिकल को दरभंगा भेजना था। आशंका जताई जा रही है कि उस केमिकल के जरिए किसी बड़ी वारदात को अंजाम देना था पर पार्सल में धमाका होने के चलते साजिश धरी की धरी रह गई।

4 संदिग्ध हिरासत में लिए गए

ब्लास्ट की तह तक पहुंचने के लिए अभी तीन राज्यों की एटीएस कार्रवाई में जुटी है। सूत्रों के मुताबिक अभी तक चार संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। यह कार्रवाई देश के अलग-अलग हिस्सों में की गई है। जांच एजेंसियां हिरासत में लिए गए संदिग्धों को लेकर कोई खुलासा करने से बच रही है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मामले के पीछे बड़ी आतंकी साजिश और इसके तार पाकिस्तान से जुड़े होने के चलते जांच का दायरा बढ़ सकता है। ब्लास्ट की जांच जल्द एनआईए अपने जिम्मे ले सकती है।

एटीएस ने शामली में डेरा डाला

बिहार में दरभंगा रेलवे स्टेशन पर पार्सल में हुए धमाके की जांच उत्तर प्रदेश पुलिस के एंटी टेरेरिस्ट स्क्वायड (एटीएस) ने शुरू कर दी है। पिछले दो दिन से एटीएस की एक टीम शामली में डेरा डाले हुए है। दरभंगा रेलवे स्टेशन पर 17 जून को एक पार्सल में धमाका हुआ। हालांकि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget