अगले साल तय समय पर हो सकते हैं UP-पंजाब सहित पांच राज्यों के विस चुनाव


नई दिल्ली

अगले साल उत्तर प्रदेश और पंजाब सहित पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों को समय पर कराने को लेकर चुनाव आयोग आश्वस्त है। साल 2022 में यूपी, पंजाब, गोवा, मणिपुर और उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव आयोजित कराए जाने हैं। बता दें पिछले साल से कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहे देश में कई राज्यों के विधानसभा चुनाव संपन्न हुए हैं, जहां 2020 में बिहार विधानसभा के चुनाव हुए थे, तो वहीं 2021 में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव आयोजित किए थे।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने दिए एक इंटरव्यू में कहा कि बिहार, पश्चिम बंगाल सहित कई राज्यों में महामारी के दौरान पोल पैनल को चुनाव आयोजित करने का काफी अच्छा अनुभव हो गया है। गोवा, मणिपुर, पंजाब और उत्तराखंड में सरकार का कार्यकाल अगले साल मार्च के अंत तक पूरा हो रहा है जबकि उत्तर प्रदेश में विधानसभा का कार्यकाल मई तक पूरा होगा।

चंद्रा ने कहा कि चुनाव आयोग का यह कर्तव्य है कि हम विधानसभा पूरी होने तक चुनाव संपन्न कराएं और जीते हुए उम्मीदवारों की सूची राज्यपाल को सौंप दें। बता दें देश में जारी कोरोना वायरस की दूसरी लहर के चलते कई राज्यों के उपचुनाव रद्द कर दिए गए थे। इसके चलते ही अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई थी। चंद्रा ने कहा कि जैसा कि आप जानते हैं कि देश में कोरोना वायरस के मामलों में गिरावट देखी जा रही है। हमने महामारी के दौरान बिहार में चुनाव आयोजित किए हैं। इसके अलावा हमने चार राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश में चुनाव आयोजित किए हैं। हमारे पास अनुभव है... हमें महामारी के दौरान भी चुनाव आयोजित करने के बहुत से अनुभव मिले हैं।

चंद्र ने आगे कहा कि "मैं आश्वसत हूं कि अब महामारी के घटने के साथ, और मैं आशा करता हूं कि ये जल्द खत्म हो जाए, हम निश्चित तौर पर अगले साल होने वाले चुनावों को समय पर आयोजित कर पाएंगे."

जहां उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में बीजेरी की सरकार है तो वहीं पंजाब में कांग्रेस सत्ता में हैं.चुनाव आयोग के 1 जनवरी 2021 के डाटा के मुताबिक देश की सबसे अधिक जनसंख्या वाले राज्य उत्तर प्रदेश में करीब 14.66 करोड़ मतदाता हैं जबकि पंजाब में करीब 2 करोड़ वोटर्स हैं. वहीं उत्तराखंड में 78.15 लाख, मणिपुर में 19.58 लाख और गोवा में 11.45 लाख मतदाता हैं. इन सभी पांच राज्यों में मिलाकर कुल 17.84 करोड़ मतदाता हैं.


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget