मुंबई में कोरोना मरीजों के दोगुना होने की अवधि 1324 दिन

corona test

मुंबई 

मुंबई में अब कोरोना पूरी तरह काबू में आ गया है। मनपा के सभी 24 वार्डों में मरीजों की संख्या डबलिंग एक हजार दिन के बाद हो रही है। मुंबई में कुल डबलिंग रेट 1324 दिन है।  मुंबई के 'बी' वार्ड सैंडहर्स्ट रोड में मरीजों के दोगुने होने की अवधि 4756 दिन है, जबकि 'ए' वार्ड कोलाबा-फोर्ट में मरीजों के दोगुने होने की अवधि सबसे कम 1025 दिन है। उत्तर मुंबई की स्थिति में भी सुधार हुआ है। कोरोना की तीसरी लहर का खतरा मंडरा रहे मुंबई में कोरोना की स्थिति में सुधार हुआ है।

 मुंबई में कोरोना की दूसरी लहर अब पूरी तरह थम गई है। पिछले 15 दिनों से मुंबई में मरीजों की संख्या 500 से कम हो गई है। रोजाना 300 से 500 मरीज दर्ज हो रहे हैं।  बीते पांच महीने में पहली बार सोमवार को 299 मरीज मिले। नतीजतन मरीज के दोगुने होने की अवधि भी तेजी से बढ़कर 1324 दिन हो गई है। 24 दिन पहले मरीज के दोगुने होने की अवधि 720 दिन थी। अब यह लगभग दोगुना होकर 1324 दिन हो गया है। जहां प्रतिदिन 25 से 30 हजार कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं, वहीं पांच सौ से कम मरीजों का रजिस्ट्रेशन होने से संतोषजनक तस्वीर सामने आई है। कोरोना से बचाव के लिए नगर पालिका द्वारा जांच की संख्या में वृद्धि, निकट संपर्क का तेजी से पता लगाना, प्रतिबंधों का सख्ती से पालन और प्रभावी उपायों ने मरीजों को नियंत्रण में ला दिया है। हालांकि, संभावित तीसरी लहर की पृष्ठभूमि में नगर पालिका ने अपनी कमर कस ली है और आवश्यक व्यवस्था स्थापित करने के लिए कड़ी तैयारी की है और अपनी पूरी व्यवस्था को तैयार रखा है।

सात वार्ड में डेढ़ हजार से ज्यादा समय में डबलिंग हो रहे मरीज

'बी' वार्ड सैंडहर्स्ट रोड में 4756 दिन में मरीज डबलिंग पीरियड में बढ़त हासिल कर ली है।  सी' प्रभाग मरीन लाइन्स में 2758 दिन, एफ/दक्षिण परेल 1976 दिन, 'एन' प्रभाग घाटकोपर 1908 दिन, पी/उत्तर मालाड 1834 दिन, पी/दक्षिण गोरेगांव 1774 दिन और 'एल' प्रभाग 1619 दिन यानि 7 वार्ड में मरीजों की अवधि दोगुनी होने की अवधि डेढ़ हजार दिन को पार कर गई है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget