दक्षिण अफ्रीका में 13 लाख भारतीयों पर संकट

गुप्‍ता बंधुओं के 'पाप' की भुगत रहे सजा!


जोहानिसबर्ग

हिंद महासागर से सटे दक्षिण अफ्रीका में पूर्व राष्‍ट्रपति जैकब जुमा की गिरफ्तारी के बाद हालात युद्ध जैसे हो गए हैं। देश के कई इलाकों में जमकर लूटपाट और हिंसा हो रही है और अब तक करीब 72 लोग मारे गए हैं। इस हिंसा की आंच में अब दक्षिण अफ्रीका में रह रहे 13 लाख भारतीय भी बड़े पैमाने पर झुलस रहे हैं। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दक्षिण अफ्रीकी विदेश मंत्री के साथ बात की है।

हिंसापूर्ण माहौल के बीच भारतीयों और भारतीय मूल दक्षिण अफ्रीकी लोगों के साथ आगजनी और लूटपाट की खबरें काफी आ रही हैं। राष्‍ट्रपति रामफोसा ने भी देश के नाम संबोधन में कहा था कि अवसरवादी लोग स्थिति का फायदा उठा रहे हैं और लूटपाट कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि ये घटनाएं आपराधिक हैं न कि राजनीतिक या नस्‍ली। प्रत्‍यक्षदर्शियों के मुताबिक भारतीयों की दुकानों और घरों को जलाया गया है।

यही नहीं, उन पर पेट्रोल बम भी फेंका गया है। भारतीयों के बिजनेस और कार को आग लगा दी गई है। भारतीय अपनी कम संख्‍या के कारण दंगाइयों से मुकाबला नहीं कर पा रहे हैं। पुलिस को गोली चलाने का अधिकार नहीं दिया गया है जिससे उनकी जान भी खतरे में है। इस पूरे विवाद की शुरुआत उस समय हुई जब जैकब जुमा को अदालत की अवमानना के मामले में 15 महीने की कैद की सजा सुनाई गई। काफी विवाद के बाद जुमा ने आत्‍मसमर्पण कर दिया और उन्‍हें जेल भेज दिया गया।

पूर्व राष्ट्रपति जुमा ने अपने कार्यकाल से दौरान हुए भ्रष्टाचार के आरोप की जांच कर रहे आयोग के सामने पेश होने से इंकार कर दिया था। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें अदालत की अवमानना का दोषी मानते हुए यह सजा सुनाई है। जैकब जुमा पर लगे भ्रष्टाचार के मामलों में उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के रहने वाले गुप्ता बंधु भी आरोपी हैं। ऐसे में दक्षिण अफ्रीकी सरकार यूएई से उनके प्रत्यर्पण की कोशिश कर रही है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget