माफिया अखंड प्रताप सिंह की 1.81 करोड़ की संपत्ति जब्त

आजमगढ़

 लखनऊ के कठौता चौराहे पर मऊ के मुहम्मदाबाद गोहना के पूर्व ज्येष्ठ उप प्रमुख अजीत सिंह की हत्या के मुख्य आरोपियों में शुमार अखंड सिंह की 1.81 करोड़ की संपत्ति आजमगढ़ में जब्त कर ली गई। तहसीलदार मेंहनगर को जब्त संपत्ति का प्रशासक नियुक्त किया गया है। अखंड पर वाराणसी में एक ट्रांसपोर्टर की हत्या में भी शामिल होने का आरोप है। लखनऊ के कठौता चौराहे पर छह जनवरी को अजीत सिंह की हत्या कर दी गई थी। इसमें माफिया ध्रुव कुमार सिंह उर्फ कुंटू के साथ अखंड प्रताप सिंह भी आरोपी है। आरोप है कि अजीत की हत्या के लिए उसने ही शूटरों का इंतजाम किया था। अखंड पर गैंगेस्टर एक्ट लगा है। उसने जरायम से अकूत संपत्ति अर्जित की है। आजमगढ़ पुलिस के मुताबिक, ऐसी ही लगभग 1.81 करोड़ से अधिक की संपत्तियां चिह्नित की गई थी। इसे जिलाधिकारी राजेश कुमार ने 12 जुलाई को जब्त करने का आदेश दिया था। एसपी सुधीर कुमार सिंह के निर्देश पर तहसीलदार मेंहनगर सर्वेश कुमार गौर व पुलिस टीम ने जमुवां व नदवा गांव स्थित अखंड व उसकी पत्नी के नाम की चार संपत्तियां जब्त कर ली।

अखंड व उसकी पत्नी वंदना सिंह के नाम की जिन संपत्तियों को कुर्क किया गया है, उसमें मेंहनगर के जमुवा स्थित गाटा संख्या 410 के 11.265 हेक्टेयर में से शिव कुमारी साहब शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान के नाम से दर्ज 3.522 हेक्टेयर भूमि जब्त की गई है। इसकी कीमत 10,91,8200 रुपए है। ग्राम नदवा के गाटा संख्या 157 के रकबा 1.477 हेक्टेयर में से 0.155 हेक्टेयर और गाटा संख्या 172 रकबा 1.851 हेक्टेयर में से 0.056 हेक्टेयर वंदना के नाम से दर्ज जमीन  जब्त गई है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget