झीलों में जमा हुआ 225 दिन का पानी

अगले साल अप्रैल तक पानी का नो टेंशन 

dam

मुंबई 

महानगर को जलापूर्ति करने वाले सातों झील क्षेत्रों में रिकाॅर्ड बारिश हुई है, जिससे झीलों में इतना पानी जमा हो गया है कि अगले 225 दिन तक सुचारू रूप से जलापूर्ति की जा सकती है। जमा हुए पानी से अगले साल अप्रैल तक बिना कटौती के पानी की सप्लाई  की जा सकेगी। 

26 जुलाई की सुबह छह बजे तक झीलों में 964313 एमएलडी पानी जमा हो चुका था। जो झीलों की कुल भंडारण क्षमता का 66.63 प्रतिशत है। पानी का यह स्टॉक पिछले दो वर्षों से ज्यादा है। वर्ष 2020 में इस दौरान झीलों में 456158 एमएलडी पानी का स्टॉक था, जो कुल क्षमता का महज 31.52 प्रतिशत था। जबकि वर्ष 2019 में इस दौरान 928326 एमएलडी पानी का स्टॉक था, जो झीलों की कुल क्षमता का 64.14 प्रतिशत था। मुंबई को मोडक सागर, तुलसी, विहार, तानसा, भातसा, अपर वैतरणा व मध्य वैतरणा झील से प्रतिदिन 3850 एमएलडी पानी की आपूर्ति की जाती है। झीलों में घटते जलस्तर ने मनपा की चिंता बढ़ा दी थी। लेकिन 10 जुलाई के बाद झील क्षेत्रों में रिकाॅर्ड बारिश हुई, जिससे जल स्तर में काफी वृद्धि हो गई।  


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget