54 चीनी कारखानों के खिलाफ जांच की मांग

गृहमंत्री अमित शाह को चंद्रकांत पाटिल ने लिखा पत्र

Sugar mill

मुंबई 

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा सातारा स्थित जरंडेश्वर चीनी कारखाने पर की गई कार्रवाई के बाद भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिख कर राज्य  के 54 चीनी कारखानों के जांच  की मांग की है। पाटिल ने आगे कहा कि इन 54 चीनी मिलों को अपने फायदे के लिए कौड़ियों के दाम पर बेचा गया है, इसलिए इन फैक्ट्रियों के सौदों की जांच होनी चाहिए। पाटिल ने जरंडेश्वर कारखाना मामले को सीढ़ी का पहला पायदान बताते हुए कहा कि राज्य में कई कारखाने हैं, जिसमें भारी हेर-फेर हुआ है। वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे और अन्य ने 54-55 कारखानों की जांच के लिए अदालत में याचिका दायर की है। इसलिए सभी से पूछताछ की जानी चाहिए। उपमुख्यमंत्री अजित पवार पर हमला करते हुए पाटिल ने कहा कि उनका जनता से कहना कि मुझे पत्र मत लिखो यह, अजित पवार की तानाशाही है।

शिवसेना के पास दूसरा कोई नेता नहीं  

दिल्ली में शिवसेना सांसद संजय राउत और भाजपा नेताओं के बीच हुई मुलाक़ात की खबर को अफवाह बताते हुए पाटिल ने कहा कि  राउत शिवसेना के सांसद हैं, इसलिए वे हमेशा दिल्ली जाते रहते हैं। राउत शिवसेना और सीएम ठाकरे के एकमात्र नेता हैं जो हर विषय पर बयान देते रहते हैं। संजय राउत के अलावा शिवसेना के पास कोई दूसरा नेता नहीं है।

चीनी उद्योग में भ्रष्टाचार की जांच जरूरी: अण्णा हजारे

वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने ईडी द्वारा जरंडेश्वर चीनी मिल के खिलाफ की गई कार्रवाई पर कहा कि गड़बड़ी को लेकर पूछताछ शुरू हो गई है। ईडी को इसी तरह राज्य के और 49 चीनी मिलों की जांच करनी चाहिए। हमने कोर्ट में 4,000 पेज का फैक्ट्री रिकॉर्ड दाखिल किया है। वह अभी सेशन कोर्ट में है। मुझे उम्मीद है कि अब सच सामने आएगा। चीनी उद्योग में भ्रष्टाचार की जांच जरूरी है, क्योंकि यह राज्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget