बिजली ने ली 78 की जान

lightening

नई दिल्ली

उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश समेत देश के कई अन्य राज्यों में आकाशीय बिजली गिरने से कुल 78 लोगों की जान चली गई। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख व्यक्त करते हुए राहत राशि की घोषणा की है। उत्तर प्रदेश में 41 और मध्य प्रदेश में दो दिन के अंदर आकाशीय बिजली गिरने 14 की जान चली गई है। वहीं, आकाशीय बिजली गिरने से राजस्थान के छह जिलों में 23 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही 28 घायल हो गए। सबसे ज्यादा 12 लोगों की मौत जयपुर में हुई है। ये सभी आमेर किले के वाच टावर पर खड़े होकर मौसम का आनंद ले रहे थे। आमेर किले के वाच टावर पर जिन लोगों की मौत हुई है, उनमें नौ स्थानीय और तीन पर्यटक थे। उधर, मध्य प्रदेश में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से दो दिन (रविवार व सोमवार) में 14 की जान गई है। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में भी रविवार को आकाशीय बिजली की वजह से 41 लोगों की जान चली गई थी।

पीएम और सीएम ने की राहत राशि की घोषणा

प्रधानमंत्री राहत कोष से मरने वालों के स्वजन को दो-दो लाख एवं घायलों को 50-50 हजार रुपये की सहायता राशि दिए जाने की घोषणा की गई है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मृतकों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए उनके स्वजन को पांच-पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने भी हादसों पर शोक जताया है। 

धर्मशाला में फटा बादलः हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में बादल फटने से क्षेत्र में अचानक बाढ़ आ गई, जिससे भागसू नाग क्षेत्र के पर्यटन स्थल में संपत्तियों को भारी नुकसान पहुंचा। इलाके में भारी जलभराव और पार्क किए गए वाहनों और होटलों में तेज रफ्तार से पानी घुस गया। पार्किंग में खड़ी कारें कागज के नाव की तरह पानी में बहने लगीं। कई घर पानी में बह गए। लगभग एक दर्जन लोग पानी के बहाव में लापता हुए जिन्हें खोजने के लिए कड़ी मश्क्कत करनी पड़ी।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget