विश्‍व धरोहर में शामिल हुआ तेलंगाना का काकतीय रुद्रेश्‍वर मंदिर

 


नई दिल्‍ली
 

तेलंगाना का काकतीय रुद्रेश्‍वर मंदिर विश्‍व धरोहर में शामिल किया गया है। यूनेस्‍को की वर्ल्‍ड हेरिटेज साइट ने इसे विश्‍व धरोहर के तौर पर जगह दी है। 800 साल पुराने इस मंदिर को रामप्‍पा मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस उपलब्‍धि पर देश को बधाई दी है।  

UNESCO ने रविवार को ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। यूनेस्‍को ने कहा- 'यूनेस्‍को वर्ल्‍ड हेरिटेज साइट में काकतीय रुद्रेश्‍वर (रामप्‍पा) मंदिर को शामिल किया गया है। बेहतरीन...' इस प्राचीन मंदिर का निर्माण राजा रुद्र देव ने कराया था। काकतीय वंश के दौरान बने इस मंदिर के शिल्‍पकार थे रामप्पा। इसलिए ही इसे रामप्‍पा मंदिर के नाम से जाना जाता है। मार्को पोलो ने इसे तमाम मंदिरों में सबसे चमकता तारा कहा था।

पीएम मोदी ने इस उपलब्धि पर खुशी जताते हुए देशवासियों को बधाई दी है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि सभी देशवासियों को बधाई, विशेष रूप से तेलंगाना के लोगों को... प्रतिष्ठित रामप्पा मंदिर महान काकतीय वंश के उत्कृष्ट शिल्प कौशल को प्रदर्शित करता है। मैं आप सभी से इस राजसी मंदिर परिसर में जाने और इसकी भव्यता का अनुभव करने की गुजारिश करूंगा। तेलंगाना के मंत्री केटी रामा राव ने भी इस उपलब्धि पर प्रसन्‍नता जताई। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा कि आप सभी को एक अच्‍छी खबर साझा कर रहा हूं। यूनेस्‍को ने तेलंगाना के 800 साल पुराने काकतीय रुद्रेश्‍वर मंदिर को विश्‍व धरोहर में शामिल कर लिया है।

 मैं इसके लिए प्रयासरत सभी लोगों को बधाई देता हूं। यह मंदिर तेलंगाना की पहली वर्ल्‍ड हेरिटेज साइट है। हमरा अगला लक्ष्‍य राजधानी हैदराबाद को वर्ल्‍ड हेरिटेज सिटी का दर्जा दिलाना है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget