तोक्यो में पदकों के साथ मलाल दूर करने उतरेंगे भारतीय निशानेबाज

shooting

तोक्यो

रियो ओलंपिक में नाकामी के बाद से लगातार अपने प्रदर्शन में सुधार कर रहे भारतीय निशानेबाज तोक्यो में पदकों के साथ उस मलाल को मिटाने की कोशिश करेंगे और इस बार भारतीय दल से एक या दो नहीं बल्कि चार पदकों की उम्मीद है। यूं तो भारत के 15 निशानेबाजों में से सभी पदक जीतने में सक्षम हैं लेकिन कुछ को सबसे प्रबल पदक उम्मीद माना जा रहा है । इनमें से एक सौरभ चौधरी हैं जिनका सामना ओ​िलंपिक और विश्व चैम्पियनों से होना है । पहले दिन पुरुषों की दस मीटर एयर पिस्टल में चौधरी और अभिषेक वर्मा भारत की चुनौती पेश करेंगे । महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में कल अपूर्वी चंदेला और इलावेनिल वालारिवन की तकदीर का भी फैसला होगा। भारत के पास यह पदकों का खाता खोलने का भी मौका रहेगा। तीन बार की आईएसएसएफ विश्व कप स्वर्ण पदक विजेता चंदेला कोरोना संक्रमण का शिकार हो गई थी और क्रोएशिया अभ्यास सह प्रतिस्पर्धा दौरे पर रवाना होने से ठीक पहले उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई। उनका यह दूसरा ओ​िलंपिक है और रियो में पैर में चोट के कारण वह खेल नहीं सकी थी। दुनिया की नंबर एक इलावेनिल देश के सर्वश्रेष्ठ राइफल निशानेबाजों में से है और ओ​िलंपिक पदक विजेता गगन नारंग पिछले सात साल से उनका मार्गदर्शन कर रहे हैं। चौधरी ने अपने छह साल के कॅरियर में इतनी कामयाबी पाई है कि वह तोक्यो में पदक की उम्मीदों में से है। गांव के मेले में शौकिया निशाने लगाकर कॅरियर की शुरुआत करने वाले चौधरी ने तोक्यो तक लंबा सफर तय किया है। दूसरे दिन भारत की मनु भाकर और यशस्विनी सिंह देसवाल दस मीटर एयर पिस्टल में उतरेंगी। 

पुरुषों की दस मीटर एयर राइफल में दिव्यांश सिंह पंवार और दीपक कुमार चुनौती पेश करेंगे। निशानेबाजी स्पर्धा के आखिरी दौर में राही सरनोबत, ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर, अंजुम मुद्गिल, तेजस्विनी सावंत, संजीव राजपूत और दो स्कीट निशानेबाज मैराज अहमद खान और अंगद वीर सिंह बाजवा उतरेंगे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget