बारिश...बाढ़...तबाही...मौत और हाहाकार

लोगों की मौत । दर्जनों लापता


मुंबई

महाराष्ट्र के कई जिलों में पिछले तीन दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश के चलते लगभग आधा दर्जन जिलों का जनजीवन पटरी से उतर गया है। वििभन्न घटनाओं में 63 लोगों की मौत होने से महाराष्ट्र से दिल्ली तक हाहाकार मच गया है। केंद्र और राज्य सरकार ने मृतकों के परिजनों को राहत राशि के तौर पर सात-सात लाख रुपए देने का एलान किया है। छह जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है।

राज्य के तीन जिलों रायगढ़, रत्नागिरि और सातारा में पहाड़ी धसकने की घटनाओं में अब तक 63 लोगों की जान जा चुकी है जबकि मलबे में 80 से अधिक लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। सीएम कार्यालय ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख की मदद का एलान किया है। सीएम उद्धव ठाकरे ने केंद्र से मदद की गुहार लगाई। उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह से चर्चा भी की। ठाकरे ने इससे पहले गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी को बाढ़ के हालात से अवगत कराया था। प्रधानमंत्री और गृहमंत्री ने उन्हें हर संभव मदद मुहैया कराने का आश्वासन दिया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री शाह ने इन हादसों पर गहरा दुख जताया है। प्रधानमंत्री मोदी ने मृतकों के परिवारों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। रायगढ़ जिले की जिलाधिकारी निधि चौधरी ने बताया कि ग्राम तलई में गुरुवार की रात पहाड़ी का एक हिस्सा धसक कर यहां के 35 घरों पर गिर गया, जिसमें सभी घर पूरी तरह जमींदोज हो गए। इस हादसे में 49 लोगों की मौत हुई है। मलबे में कुछ लोगों के दबे होने की आशंका है। घटनास्थल पर सुबह से राहत एवं बचाव कार्य जारी है। 

रत्नागिरि जिला प्रशासन के मुताबिक जिले की खेड़ तहसील के ग्राम धामड़ंग में दो लोगों की मौत हुई है, जबकि 17 लोगों के दबे होने की आशंका है। सातारा जिले के ग्राम अम्बेघर में 12 लोगों की मौत हुई है। रत्नागिरी जिले के चिपलून में अपरांत हॉस्पिटल में बाढ़ का पानी घुसने से यहां की पावर सप्लाई ठप हो गई इससे 8 मरीजों की मौत हो गई। यह एक कोविड हॉस्पिटल है और मरने वाले सभी लोग ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे।

ठाणे और पालघर में भारी बारिश के कारण निचले इलाके 24 घंटे से पानी में डूबे हैं। कोंकण डिवीजन में अभी तक बारिश से जुड़ी घटनाओं में 8 लोगों की मौत हो चुकी है।  

पीएम ने दिया मदद का आश्वासन

पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार दोपहर को महाराष्ट्र में हुई घटनाओं को लेकर ट्वीट किया। पीएम नरेंद्र मोदी ने लिखा, 'रायगढ़ में भूस्खलन के चलते लोगों के मरने से दुख हुआ है। इस हादसे में अपने परिजनों को खोने वाले लोगों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।' इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि महाराष्ट्र में भारी बारिश के चलते पैदा हुए हालात की निगरानी की जा रही है और प्रभावितों को हरसंभव मदद दी जाएगी।   

मध्‍य रेलवे के अनुसार मुंबई/कोंकण क्षेत्र में भारी बारिश के कारण कुल 30 ट्रेनें रद्द की गई हैं जबकि 12 ट्रेनों के मार्ग में बदलाव किया गया है। आठ ट्रेनों के गंतव्य को छोटा कर दिया गया है। रेल मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि ट्रेनों से संबंधित जानकारियों के लिए हेल्पलाइन नंबर 139 डायल करें।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget