केएल राहुल ने बताया कैसे दूर की अपनी कमजोरी

KL rahul

लंदन

टीम इंडिया इन दिनों इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज की तैयारी में जुटी हुई है। कप्तान विराट कोहली सीरीज में कोई कमी नहीं रखना चाहते। पांच मैचों की टेस्ट सीरीज 4 अगस्त से शुरू होनी है। यह वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के नए सीजन पहली सीरीज है। केएल राहुल ने दो साल से टेस्ट नहीं खेला है। उन्हें मौजूदा सीरीज में मध्यक्रम में मौका मिल सकता है। पिछले दिनों उन्होंने प्रैक्टिस मैच में शतकीय पारी भी खेली थी। केएल राहुल ने बीसीसीआई टीवी से बात करते हुए कहा कि मैंने अपनी कमियों को दूर करने के लिए काफी प्रयास किए। उन्होंने कहा कि जब मुझे 2018 में ड्रॉप किया गया था, तो मुझे वापस जाना पड़ा और कोच के साथ चर्चा करनी पड़ी। बहुत सारे वीडियो देखे कि आखिर मैं कहां गलत कर रहा हूं और उसे ठीक करने के प्रयास किए। केएल राहुल ने अंतिम टेस्ट शतक इंग्लैंड में ही 2018 में लगाया था। इसके बाद अगली 12 पारियों में वे सिर्फ 195 रन बना सके और 44 रन उनका उच्चतम स्कोर रहा। टेस्ट में 5 शतक के साथ 2006 रन बना चुके केएल राहुल ने कहा कि मैं खुश हूं कि टेस्ट क्रिकेट से हटने के बाद मुझे मदद मिली। जैसा कि कहा जाता है कि असफलता आपको मजबूत बनाती है। आपको अधिक केंद्रित और दृढ़ बनाती है। उन्होंने कहा कि मेरे लिए अलग कुछ नहीं था। मैं मौकों की तलाश कर रहा हूं। शांत और अनुशासित होने की कोशिश में लगा हुआ हूं। राहुल ने पिछले 18 महीने में सिर्फ दो फर्स्ट क्लास के मुकाबले खेले हैं। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget