मोदी कैबिनेट का होगा विस्तार

शाम को शपथ ले सकते हैं नए मंत्री ।  मंत्रिमंडल में शामिल होगी JDU !

modi

नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट का विस्तार होने जा रहा है। संभवतः आज शाम छह बजे के करीब नए मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई जा सकती है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, मोदी अपने मंत्रिमंडल में युवाओं को तरजीह देने जा रहे हैं। साथ ही उच्च शिक्षा वाले सांसदों को भी मौका मिल सकता है। आज करीब दो दर्जन से अधिक नए चेहरों को मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी।

सूत्रों के मुताबिक, राष्ट्रपति भवन को केंद्र सरकार ने शपथ ग्रहण की जानकारी दे दी है। शपथ ग्रहण समारोह में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा। साथ ही परिवार के सिर्फ एक सदस्य को कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी। 

जिन नेताओं को मंत्री पद की शपथ दिलाई जा सकती है, उनमें नारायण राणे, ज्योतिरादित्य सिंधिया, सुशील मोदी, तीरथ सिंह रावत, सर्वानंद सोनोवाल, पशुपति पारस, आरके रंजन सिंह, अपना दल की अनुप्रिया पटेल जैसे नाम शामिल हैं।

JDU का फॉर्मूला

बिहार में भाजपा के 17 सांसद हैं और केंद्र में यहां के पांच मंत्री हैं। JDU के 16 सांसद हैं और केंद्र में उसका कोई मंत्री नहीं है। ऐसे में JDU ने चार मंत्री पद मांगे हैं। पार्टी का कहना है कि उसे दो मंत्री और दो राज्य मंत्री चाहिए। फिलहाल नीतीश कुमार ने कहा है मोदी जो चाहेंगे वही होगा।

कैबिनेट विस्तार में बंगाल पर नजर

बंगाल से भाजपा सांसद नीतीश प्रमाणिक को भी मंत्री बनाए जाने की चर्चा जोरों पर है। वह बीते कई दिनों से दिल्ली में ठहरे हुए हैं। कहा जा रहा है कि फिलहाल वह केंद्र सरकार की ओर से शपथ के बुलावे का इंतजार कर रहे हैं।  नीतीश राजबंशी समुदाय से आते हैं, जिस पर बंगाल विधानसभा चुनाव में भाजपा ने खूब दांव लगाया था। 

युवाओं को मिलेगा मौका

कई युवा चेहरे भी शामिल होंगे। यह तय है कि मंत्रिमंडल में मुख्यत: शिक्षित लोगों को ही जगह मिलेगी। मोदी सरकार की योजनाओं और राजनीतिक दांव के केंद्र में अनुसूचित जाति, जनजाति और ओबीसी शुरू से रहे हैं। 

पूरे देश और खासकर उत्तर प्रदेश की राजनीति में ओबीसी का खासा प्रभाव है। ऐसे में ओबीसी मंत्रियों की संख्या ज्यादा हो सकती है। फिलहाल कैबिनेट में लगभग डेढ़ दर्जन ओबीसी मंत्री हैं।

यूं तो केंद्रीय कैबिनेट में 81 मंत्री हो सकते हैं और वर्तमान में 28 पद खाली हैं। आधे दर्जन मंत्री ऐसे हैं जिनके पास दो से भी ज्यादा मंत्रालय हैं। बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश से चार और बिहार से तीन मंत्री बनाए जा सकते हैं। उत्तर प्रदेश में सहयोगी अपना दल से अनुप्रिया पटेल के साथ-साथ भाजपा के कोटे से वरुण गांधी शामिल हो सकते हैं। 


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget