तबरेज के साथी हलीम ने रची थी साजिश

रायबरेली

मशहूर शायर मुनव्वर राना के बेटे तबरेज राना पर चार दिन पहले हुए हमले के मामले में शुक्रवार को नया मोड़ आ गया। यह हमला किसी और ने नहीं बल्कि मुनव्वर के बेटे तबरेज ने अपने साथियों के साथ साजिश करके सुर्खियां बटोरने के लिए अपने ऊपर खुद कराया था। पुलिस ने तबरेज के दो साथियों समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार कर पूरे मामले का खुलासा किया है। पुलिस का कहना है कि तिलोई से चुनाव लड़ने, मीडिया के जरिए सुर्खियां बटोरने और चाचाओं को फंसा कर शांत करके उनके हिस्से की रकम हड़पने के लिए अपने ऊपर फायरिंग कराई थी। इस खुलासे के बाद मुनव्वर का बेटा तबरेज फरार हो गया है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। 

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में शुक्रवार को एसपी श्लोक कुमार ने बताया कि मुनव्वर राना के बेटे ने कुछ दिन पहले जमीन बेची थी। इस जमीन में चाचाओं का कुछ हिस्सा भी तबरेज ने बेच दिया था। इसकी जानकारी होने पर चाचाओं ने आपत्ति जताई थी। इसी के बाद तबरेज ने साथी हलीम और सुल्तान के साथ मिलकर एक होटल में बैठकर अपने ऊपर फायरिंग कराने की साजिश रची। इस साजिश को 28 जून को अंजाम दिया गया। घटना वाले दिन तबरेज त्रिपुला के निकट पेट्रोल पंप के पास पहुंचा और गाड़ी खड़ी कर दी। पहले से तय योजना के तहत तबरेज के साथी हलीम और सुल्तान के इशारे पर शूटर सत्येंद्र और शुभम ने तबरेज के वाहन पर फायरिंग किया। 

एसपी का कहना है कि हमला जिधर तबरेज बैठा था उधर ना करके दूसरी तरफ किया गया। यह पूरा वाक्या पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। हलीम और सुल्तान को गिरफ्तार किया गया तो सारी हकीकत और साजिश सामने आ गई।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget