बरसात में ऐसे करें बालों की देखभाल!


मॉनसून में डैंड्रफ की समस्या बढ़ जाती है, जिससे स्काल्प में खुजली होने लगती है। हेल्दी स्काल्प व डैंड्रफ को दूर करने के लिए नीम के तेल से मसाज करें। वैसे नींबू भी काफी फायदेमंद है, इसका रस भी स्काल्प में अप्लाई इतने से रूसी और एक्स्ट्रा ऑइल से छुटकारा मिलता है।

 मॉनसून में स्काल्प को क्लीन व हेल्दी रखने के लिए नीम का उपयोग इस तरह करें- नीम के पत्तों को पानी में तब तक उबालें, जब तक पानी आधा न रह जाए। इसे ठंडा होने दें। बालों को इससे धोएं और फिरगुनगुने पानी से फाइनल रिंस करें। इससे स्काल्प हेल्दी रहेगा।

 आधा कप दही लें और पपीते के पल्प को ब्लेंड करके इसमें मिलाकर पेस्ट बना लें। बालों और स्काल्प पर लगाएं। आधे घंटे बादगुनगुने पानी से धो लें। यह बालों को हेल्दी रखता है और स्प्लिट एंड्स से भी छुटकारा दिलाता है।

 एक अंडे में दो टेबलस्पून दही मिलाकर कंडीशनर के तौर पर लगाएं। इसे 15 मिनट तक लगाकर रखें। फिर बाल धो लें, इससे बालों को बाउंस मिलेगा और चिपचिपापन खत्म होगा।

 एलोवीरा पल्प से स्काल्प मसाज करें, इससे स्काल्प हेल्दी रहेगा।

 आम के पल्प और पुदीने को मिलाकर पेस्ट बनाएं और इस पेस्ट से बालों में मसाज करें। 15 मिनट बादबालों को धो लें। यह बालों में शाइन लाता है।

 नारियल तेल को हल्का-सा गर्म करके बालों में मसाज करें, चाहें तो रात को सोने से पहले मालिश करें और सुबह बाल धो लें।

– प्याज़ का रस स्काल्प पर अप्लाई करें। ये हेयर फाॅल को कम करता है। अगर प्याज की गंध से परेशानी है, तो इसमें गुलाबजल मिला लें। कुछ देर बाद बाल धो लें।

 ड्राई बालों के लिए 2-3 केलों को मैश करके उसमें शहद मिलाएं। इस पेस्ट को एक घंटे तक लगाकर रखें।

 अगर बाल बहुत ऑइली हैं तो पुदीने के पत्तों का पेस्ट बालों में अप्लाई करें, 20 मिनट बाद बाल धो लें।

 स्काल्प में खुजली चलती है तो शैंपू के बाद एक मग पानी में एक टेबलस्पून विनेगर मिलाकर लास्ट रिंस करें, ये इची स्काल्प के लिए काफी फायदेमंद है।

 हेल्दी बालों के लिए दूध में थोड़ा-सा शहद मिक्स करके बालों और स्काल्प पर अप्लाई करें। थोड़ी देर बाद माइल्ड शैंपू से धो लें, बारिश के मौसम में ये बेस्ट हेयर पैक है।

– अगर बारिश में बाल भीग जाएं, तो घर आते ही शैंपू करें। बारिश के पानी से बाल व स्काल्प ड्राई हो जाते हैं। बेहतर होगा इस मौसम में हेयर स्टाइल शॉर्ट और सिम्पल रखें, केमिकल के प्रयोग से बचें, ड्रायर का इस्तेमाल भी कम करें।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget