राज्य में बालू माफियाओं के हौसले बुलंद

औरंगाबाद

कजपा नदी के ईंट-भट्ठा के समीप बालू का अवैध कारोबार रोकने पहुंची रफीगंज थाने की पुलिस पर माफियाओं व उनके गुर्गों ने हमला कर दिया। इसके अलावा हाथापाई और दुर्व्यवहार भी किया गया। पुलिस को डराने के लिए उनलोगों ने फायरिंग भी की। हालांकि, पुलिस ने अवैध बालू लदे तीन ट्रैक्टरों के साथ दो लोगों को गिरफ्तार करने में सफलता पायी है।

प्रभारी थानाध्यक्ष भगवान सिंह ने बताया कि कजपा ईंट-भट्ठे के पास अवैध ढंग से बालू ढोया जा रहा था। सूचना के सत्यापन के लिए छापेमारी दल का गठन किया गया। एएसआई कृपाल जस्तूस खाखा व शहजाद अख्तर पुलिस बल के साथ कजपा नदी के पास पहुंचे, तो देखा कि नदी के पास ईंट-भट्ठे पर ओवरलोडेड तीन ट्रैक्टर बालू छिपा कर रखा गया है। तीनों ट्रैक्टर को जब्त किया गया, रात्रि होने के कारण ट्रैक्टर को थाना लाना ठीक नहीं समझा गया। तीनों ट्रैक्टर के चालकों की खोजबीन की गयी, लेकिन कहीं पता नहीं चला। जब कजपा भुइयां बिगहा गांव में पुलिस पहुंची और चालक के बारे में पता किया तो दो दूसरे ट्रैक्टर चालक मिले, जिसके माध्यम से दो ट्रैक्टरों को ईंट-भट्ठा से किसी तरह निकाल कर सड़क पर लाया गया। रात में दो ट्रैक्टरों को रफीगंज भेजा गया एवं एक ट्रैक्टर को चालक नहीं मिलने के कारण पुलिस निगरानी में रखा गया। इसी बीच रात में ट्रैक्टर के आगे स्कॉर्पियो लगाकर उसमें से चार व्यक्ति उतरे और भय बनाकर ट्रैक्टर छोड़ने का दबाव बनाने लगे। पुलिस द्वारा इंकार करने पर वे लोग उग्र हो गये और पुलिसकर्मियों को गाली गलौज करने लगे। कजपा गांव में तेज आवाज देकर ग्रामीणों को बुलाया गया। 25 से 30 ग्रामीण लाठी-डंडे से लैस सभी पुलिसकर्मियों को चारों तरफ से घेर लिया और ट्रैक्टर को ले जाने का प्रयास करने लगे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget