बिना टीकाकरण के ही महिला को सर्टिफिकेट

नाशिक

कोरोना को रोकने के लिए वरदान साबित हो रही टीकाकरण में आए दिन अजीबोगरीब मामले सामने आ रहे हैं। कलवण में एक महिला को टीका नहीं लगने के बाद भी टीकाकरण करने का प्रमाणपत्र दे दिया गया। नवी बेज की रहने वाली भीमाबाई गोसावी शनिवार को टीके की दूसरी खुराक लेने केंद्र पर गई तो उन्हें बताया गया कि केंद्र में कोई टीका नहीं है, लेकिन घर पहुंचने के कुछ ही देर बाद भीमाबाई के मोबाइल पर एक संदेश आया कि उन्हें टीका लग दिया गया है और उसका प्रमाण पत्र भी उनके मोबाइल पर भेज दिया गया। उसने तुरंत नवी बेज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में शिकायत दर्ज कराई।

इसी तहसील में कचरे में फेंकी गई वैक्सीन मिली है। इस पर प्रशासन कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। कलवण वणी रोड पर गोबापुर गांव के पास सड़क पर को-वैक्सिंग वैक्सीन का एक स्टॉक पड़ा मिला। करीब बीस सेट बोतलें सड़क पर फेंकी गईं थीं, जबकि कुछ बोतलें सड़क पर फैली हुई थी। सड़क से गुजर रहे कल्पेश जठार ने टीका एकत्र कर तत्काल गांव की आशा सेविका को सौंप दिया, जिसे नांदूर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में जमा करा दिया गया। जिला परिषद के स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कपिल अहेर और कलवण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क किया गया, तो उन्होंने इस मामले पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget