डीएफपीसीएल लगाएगा अमोनिया प्लांट


मुंबई

भारत के उर्वरक और औद्योगिक रसायनों के प्रमुख निर्माताओं में शुमार, दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड (डीएफसीएल), महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में एक नया अमोनिया-निर्माण संयंत्र (अमोनिया मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट) स्थापित कर रहा है। 

नया प्लांट भारत सरकार के 'आत्मनिर्भर भारत' विजन के अनुरूप है और महाराष्ट्र सरकार की 'मैग्नेटिक महाराष्ट्र' पहल के साथ करीब से जुड़ा है। प्लांट देश की फूड चेन को सुरक्षित रखने में मददगार होगा क्योंकि अमोनिया, उर्वरक का एक अहम घटक है। यह देश की अमोनिया के आयात पर निर्भरता को 25 फीसदी तक कम करेगा। एक जिम्मेदार कॉर्पोरेट इकाई होने के नाते, डीएफसीएल, तलोजा सहित अपने सभी प्लांट्स के आसपास स्थानीय समुदायों की बेहतरी के लिए प्रयास करता है। निर्माण के चरण में, इस  परियोजना से 2,000 से अधिक लोगों को रोजगार मिल सकेगा। वहीं अमोनिया संयंत्र शुरू हो जाने के बाद इसमें स्थानीय समुदाय के लिए 300 स्थायी रोजगार के साथ ही बहुत से अन्य लोगों के लिए अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर पैदा होंगे। डीएफपीसीएल के सिडेंट-मैन्यूफैक्चरिंग  डीएसआर राजू ने कहा, “डीएफपीसीएल का नया प्लांट आत्मनिर्भर भारत मिशन को आगे बढ़ाएगा। अपने अस्तित्व के 40 वर्षों के दौरान कृषि, फार्मास्यूटिकल्स, खनन, इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे अर्थव्यवस्था के सबसे अहम सेक्टर्स को सपोर्ट करने और राष्ट्र निर्माण में योगदान देने का हमारा प्रयास रहा है। ऑर्गनाइजेशन अपने कर्मचारियों और पड़ोसी समुदाय के स्वास्थ्य व सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए उच्चतम संभव पर्यावरण और उत्सर्जन मानदंडों का अनुपालन करता है। प्रेसिडेंट – प्रोजेक्ट्स, अरुण विजय के अनुसार कंपनी ने इस परियोजना के लिए सर्वोत्तम उपलब्ध तकनीक को अपना रही है, जो इसे अत्यधिक एनर्जी एफिशिएंट बनाती है। यह वैश्विक स्तर के साथ ही भारत में सबसे कड़े पर्यावरण और सुरक्षा मानदंडों को पूरा करती है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget