किसी भी तरह की ढिलाई या लापरवाही बर्दाश्त नहीं

केंद्र ने एक बार फिर आठ राज्यों मसलन अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, केरल, असम मेघालय, त्रिपुरा, सिक्किम और उडीसा को पत्र लिख कर कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर सतर्क रहने को कहा है, कारण देश में एक बार फिर मामलों की संख्या बढ़ने से सरकार की चिंता बढ़ी है। इसके साथ ही जिस तरह लोग खुलेआम कोरोना उपयुक्त व्यवहार को तिलांजलि दे रहे हैं, पर्यटन स्थलों अन्‍य सार्वजनिक स्थलों पर जिस तरह भीड़-भाड़ देखी जा रही है और लोग मास्क तक पहनने से परहेज कर रहे हैं यह अभी दूसरी लहर से उबर रहे देश के नीति नियंताओं की चिंता बढ़ा रही हैं. ऐसे माहौल में जब विशेषज्ञ रोज तीसरी लहर की भविष्यवाणी कर रहे हैं, दुनिया और देश में नए-नए वैरिएंट सामने आ रहे हैं, सरकार इससे लड़ने के लिए द्रुतगति से टीकाकरण के साथ अन्य तमाम साजोसमान जुटाने में लगी है, पैकेज की घोषणा हो रही है जिससे तीसरी लहर का असर कम से कम हो. ऐसे में जनता-जनार्दन द्वारा कोरोना उपयुक्त व्यवहार का सख्ती से अनुपालन नितांत आवश्‍यक है. कारण जनता की लापरवाही बाकी सब काम को मटियामेट कर सकती है. महामारी की सबसे बड़ी भुक्तभोगी आम जनता है और सबसे ज्यादा लापरवाही इसी वर्ग से हो रही है. यह लोगों की समझ में क्यों नहीं आ रहा है कि यह उनके लिए आत्मघाती है. महामारी का बढ़ना स्वास्थ्य के साथ-साथ रोजी रोटी, आवागमन, मांगलिक कार्य सब प्रभावित कर रहा है, संक्षेप में जन जीवन तहस-नहस कर रहा है. फिर भी लोग सावधानिया क्यों नहीं बरत रहे हैं यह प्रश्न है, जिसका इलाज सरकार और समाज को ढूढ़ना पड़ेगा. लोग कोरोना से बचने के निर्देशों का सख्‍ती से अनुपालन करें इसके लिए हर संभव सख्त कदम जरूरी है. कारण कुछ लोगों की लापरवाही बहुत लोगों के जी का जंजाल बनती है. इस बिंदु पर किसी भी तरह की ढिलाई नहीं बर्दाश्त की जा सकती कारण ऐसी लापरवाही जानलेवा है. देश में इस महामारी के कहर ने किस तरह तबाही मचाई है उससे देशवासी अनजान नहीं हैं. बावजूद इसके जिस तरह बेपरवाही के भाव उनके दैनिक क्रिया-कलाप में दिखाई दे रहे हैं, किसी अपराध से कम नहीं हैं. आवश्‍यक है तो जाएं लेकिन उन निर्देशों का पालन करें जिससे आप भी बचें और आपके परिजन भी. आखिर आप-लापरवाही कर सबके लिए जोखिम क्यों खड़ा कर रहे हैं. साल भर से ज्यादा समय बीत चुका है इसके बाद भी जो लोग नहीं समझ रहे हें उन्हें समझाने के लिए और कुछ सख्त कार्रवाई की दरकार है. 

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget