आतंकी के बेटे कर रहे थे सरकारी नौकरी

जम्मू-कश्मीरः 11 देशद्रोही सरकारी कर्मचारी बर्खास्त

salahuddin

जम्मू 

जम्मू-कश्मीर में शनिवार को 11 सरकारी कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया गया है। मोस्टवांटेड आतंकी सलाहुद्दीन के दो  बेटे भी इसमें शामिल हैं। बर्खास्त करने के लिए तीन अधिकारियों की सिफारिश आईटीआई, कुपवाड़ा के एक अर्दली से संबंधित है, जो आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का ओवर ग्राउंड वर्कर था। वह आतंकियों को सुरक्षाबलों की आवाजाही व अन्य जानकारियां देने में शामिल है। साथ ही अनंतनाग जिले के दो शिक्षक जमात-इस्लामी (जेईआई) और दुख्तारन-ए-मिल्लत (डीईएम) की अलगाववादी विचारधारा में भाग लेने, समर्थन करने और प्रचार करने सहित राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल पाए गए हैं। बर्खास्त करने के लिए अनुशंसित आठ सरकारी कर्मचारियों में जम्मू कश्मीर पुलिस के दो कांस्टेबल शामिल हैं। जिन्होंने पुलिस विभाग के भीतर से आतंकवाद का समर्थन किया है। आतंकवादियों को जानकारी के साथ-साथ रसद सहायता भी प्रदान की है।

साथ ही मोस्ट वांटेड आतंकवादी  और आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का  सरगना  सैयद सलाहुद्दीन के  दो बेटे  भी सरकारी नौकरी कर रहे  थे।  बर्खास्त किए गए 11 कर्मचारियों में से चार अनंतनाग, तीन बडगाम, एक-एक बारामूला, श्रीनगर, पुलवामा और कुपवाड़ा के हैं। इनमें से चार शिक्षा विभाग में, दो जम्मू कश्मीर पुलिस में और एक-एक कृषि, कौशल विकास, बिजली, एसकेआईएमएस और स्वास्थ्य विभागों में कार्यरत थे। सभी पर देशद्रोह का आरोप लगाया गया है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget