पंजाब कांग्रेस में ऑल इज वेल नहीं


चंडीगढ़

पंजाब कांग्रेस में बदलाव को लेकर हाईकमान द्वारा नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी प्रधान बनाने की घोषणा करना तय माना जा रहा है। इसके साथ ही सिद्धू ने राज्‍य के कांग्रेस विधायकों के साथ बैठक की। दूसरी ओर मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह भी अपने करीबी मंत्रियों-विधायकों और सांसदों के साथ बैठक कर रहे हैं। इससे पंजाब कांग्रेस में हलचल तेज हो गई है और राज्‍य की सियासत गर्मा गई है। उधर, कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार ने सीएम के इस्‍तीफे की चर्चाओं को पूरी तरह खारिज कर दिया है।

तीन मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, सुखबिंदर सिंह सरकारिया और तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा के साथ नवजोत सिंह सिद्धू मंत्री सुखजिंदर रंधावा  के घर पर पहुंचे। इसके अलावा विधायक कुलजीत जीरा, बरिंदरजीत सिंह पाहड़ा समेत आधा दर्जन नेता मीटिंग में मौजूद थे। 

जब कांग्रेस में कैप्टन व सिद्धू की सियासी लड़ाई शुरू हुई तो कैप्टन समर्थक खुलकर सामने आए थे। उन्होंने पंजाब में जगह-जगह पोस्टर लगा दिए थे कि 'कैप्टन तां इक ही हुंदा है' यानी कैप्टन तो कोई एक ही होता है। सिद्धू के पास कोई बड़ी भूमिका नहीं थी तो उनके समर्थक चुप थे, लेकिन अब इसको भी सिद्धू समर्थकों ने जवाब दिया है कि 'बब्बर शेर तां इक ही हुंदा है' यानी बब्बर शेर तो सिर्फ एक ही होता है।

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और सिद्धू द्वारा मंत्रियों और विधायकों के साथ अलग-अलग हो रही बैठकों से यह साफ हो गया है कि पंजाब कांग्रेस में अॉल इज वेल नहीं है। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget