अब मनमर्जी के कपड़े नहीं पहन सकेंगे वकील

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जारी किया नया ड्रेस कोड

लखनऊ

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ऑनलाइन सुनवाई के दौरान वकीलों के लिए ड्रेस कोड जारी कर दिया है। दरअसल, एक वकील वर्चुअल सुनवाई के दौरान चेहरे पर फेस पैक लगाकर और बनियान पहनकर शामिल हो गए थे। जिस पर कोर्ट ने नाराजगी जताते हुए कहा कि ऑनलाइन सुनवाई के दौरान वकीलों का कलरफुल शर्ट और बनियान पहनना बिल्कुल भी स्वीकार नहीं किया जाएगा। कोर्ट ने कहा कि स्कूटर पर सवारी के दौरान और शोर-शराबे वाले माहौल में भी अब वकील बहस में हिस्सा नहीं ले सकेंगे। कोर्ट ने तय किया है कि महिला-पुरुष वकीलों को ऑनलाइन सुनवाई के दौरान रंगीन और मनमाफिक कपड़े न पहनकर सादी सफेद शर्ट, सफेद सलवार कमीज, सफेद साड़ी और सफेद नेक बैंड पहनना जरूरी होगा। ये ड्रेस कोड सभी वकीलों के लिए अनिवार्य है। साथ ही जिस तरह से अदालत में शांतिपूर्ण माहौल में सुनवाई होती है वैसे ही घरों में भी उसी तरह का माहौल सुनवाई के दौरान होना चाहिए। जज ने कहा कि अगर वकील बहस के दौरान काला कोट पहनते हैं, तो ये और भी बेहतर होगा। हाईकोर्ट के जज ने एक आदेश में कहा कि किसी भी सूरत में वर्चुअल माध्यम से सुनवाई के दौरान वकीलों की अजीबो-गरीब पोशाकों को स्वीकार नहीं किया जाएगा। कोर्ट ने कहा कि वकीलों को यह समझना होगा कि घर से वर्चुअल माध्यम से सुनवाई किसी भी सूरत में कोर्ट रूम की तरह रही है। जिस तरह से अदालत के भीतर कार्यवाही चलती है घरों से सुनवाई के दौरान भी वकीलों को उसी तरह से गंभीरता दिखानी होगी।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget