सरकार ओबीसी आरक्षण रद्द करना चाहती हैः फड़नवीस

महाविकास आघाड़ी में नेता कम, बोलने वाले पोपट अधिक


मुंबई

ओबीसी समाज के राजनीतिक आरक्षण मुद्दे पर भाजपा आर -पार की लड़ाई के मूड में आ गई है। सोमवार को भाजपा प्रदेश ओबीसी मोर्चा कार्यकारिणी की बैठक में पदाधिकारियों का मार्गदर्शन करते हुए पूर्व सीएम और विपक्ष नेता देवेंद्र फड़नवीस ने राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार पर जोरदार निशाना साधा। फड़नवीस ने कहा कि यह सरकार ओबीसी समाज के विरोध में काम कर रही है। एक सोचे समझे षड्यंत्र के तहत ओबीसी आरक्षण को पूरी तरह समाप्त करना चाहती है। ओबीसी आरक्षण का मुद्दा महत्वपूर्ण हो गया है।

महाविकास आघाड़ी नेताओं के बयान पर उन्होंने कहा कि आघाड़ी नेता हर रोज झूठ बोलकर समाज को गुमराह कर रहे हैं। फड़नवीस ने कहा कि महाविकास आघाड़ी में नेता कम, अधिक बोलने वाले पोपट बहुत हैं, क्योंकि नेता इतना कभी नहीं बोलता। राज्य सरकार की लापरवाही के कारण आरक्षण रद्द हुआ है। सर्वोच्च न्यायालय में सिर्फ पांच जिलों के 50 फीसदी से अधिक होने का मामला चल रहा था, उस समय हमारी सरकार ने न्यायालय में अपना मजबूती से पक्ष रखा और न्यायालय ने पांच जिले में चुनाव की अनुमति भी दे दी, लेकिन राज्य में सत्ता परिवर्तन होने के बाद सरकार की लापरवाही के कारण आरक्षण रद्द हो गया। 15 महीने बीत जाने के बाद भी राज्य सरकार ने इम्पेरिकल डाटा को इकट्ठा करने के लिए पिछड़ा आयोग गठित नहीं किया। ओबीसी आरक्षण मुद्दे पर राज्य सरकार को चौतरफा घेरते हुए फड़नवीस ने ओबीसी मोर्चा के पदाधिकारियों से इस मुद्दे को जन-जन तक पहुंचाने और जब तक समाज को न्याय नहीं मिल जाता तब तक चुप नहीं बैठने का आव्हान किया. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग का गठन नहीं करना चाहती और इम्पीरिकल डेटा एकत्र करने और उसे सर्वोच्च न्यायालय में जमा करने के लिए परिपत्र भी जारी नहीं करना चाहती। ओबीसी मोर्चा प्रदेश कार्यकारिणी बैठक में पूर्व केंद्रीय गृहराज्य और ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हंसराज अहीर, ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री और सांसद संगमलाल गुप्ता, मुंबई भाजपा अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा, पूर्व मंत्री विधायक आशीष शेलार, पूर्व मंत्री व विधायक संजय कुटे, विधायक अतुल भातखलकर, ओबीसी मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष योगेश टीलेकर सहित सभी पदाधिकारी उपस्थित थे। बैठक को पूर्व केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर, राष्ट्रीय महामंत्री और सांसद संगमलाल गुप्ता, प्रदेशाध्यक्ष योगेश टीलेकर ने भी संबोधित किया।

लोकसभा में गूंजेगा ओबीसी आरक्षण और विधायकों के निलंबन का मुद्दा

बैठक के बाद मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री और सांसद संगमलाल गुप्ता ने कहा कि राज्य सरकार की लापरवाही के कारण समाज का राजनीतिक आरक्षण रद्द हुआ है जिसे समाज और भाजपा दोनों बर्दाश्त नहीं करेंगे। गुप्ता ने कहा कि ओबीसी आरक्षण और 12 विधायकों के निलंबन का मुद्दा मैं लोकसभा में जरूर उठाऊंगा। गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार समाज के आर्थिक और सामाजिक स्तर को मजबूत करने के लिए हर प्रयास कर रही है लेकिन राज्य की महाविकास आघाडी सरकार उनके राजनीतिक आरक्षण को हमेशा के लिए रद्द करवा देना चाहती है तत्कालीन फड़नवीस सरकार ने ओबीसी समाज के उत्थान के लिए स्वतंत्र मंत्रालय शुरू किया था जिसे मौजूदा सरकार ने बंद कर दिया है. इस अवसर पर मुंबई भाजपा ओबीसी मोर्चा अध्यक्ष नरेंद्र  गावकर तथा मुंबई भाजपा मीडिया प्रभारी श्वेता परुलकर भी उपस्थित थीं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget