चेचक की तरह फैलेगा डेल्टा!

वैक्सीन लगवा चुके लोग भी हो सकते हैं संक्रमित

crowd

नई दिल्ली

कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट को लेकर परेशान करने वाली खबर सामने आई है। अमेरिकी स्टडी में खुलासा हुआ है कि कोरोना का यह वैरिएंट चिकन पॉक्स यानी चेचक की तरह लोगों में तेजी से फैल सकता है। अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC) की यह स्टडी अभी पब्लिश नहीं हुई है, लेकिन न्यूयॉर्क टाइम्स में इसका एक डॉक्युमेंट छपा है। कोरोना वायरस के दूसरे वैरिएंट्स की तुलना में डेल्टा वैरिएंट ज्यादा संक्रामक है और UK में कोरोना के 99 फीसद केस डेल्टा वैरिएंट की वजह से ही सामने आए हैं।

वायरस पर की गई स्टडी में चिंताजनक बात ये भी है कि वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके लोग भी वैक्सीन न लगवाने वालों की तरह ही डेल्टा वैरिएंट को फैला सकते हैं। CDC के डायरेक्टर डॉ. रोशेल पी वालेंस्की ने बताया कि वैक्सीनेशन करा चुके लोगों की नाक और गले में उतना ही वायरस होता है, जितना कि टीकाकरण न कराने वालों में, जिससे ये आसानी से फैल जाता है।

वैक्सीन गंभीर रूप से बीमार होने से बचाएगी

इस डॉक्युमेंट में बताया गया है कि वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके लोग सुरक्षित हैं। वैक्सीन गंभीर रूप से बीमार होने से 90 फीसद तक बचाती है, लेकिन इससे वायरस के संक्रमण और ट्रांसमिशन से बचाव कम होता है। यही वजह है कि वैक्सीनेशन के बाद भी लोग कोरोना के डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित हुए।

देश में डेल्टा प्लस के 70 मामले

देश में अब तक कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट के 70 मामले पाए गए हैं। केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री जितेंद्र सिंह ने शुक्रवार को लोकसभा में एक लिखित जवाब में कहा कि अब तक कोरोना वायरस यानी सार्स-कोव-2 के 58,240 नमूनों का अनुक्रम और इनमें से 46,124 नमूनों का विश्लेषण किया गया है। महाराष्ट्र में डेल्टा प्लस के सबसे ज्यादा 23 मामले मिले हैं, उसके बाद मध्य प्रदेश में 11, तमिलनाडु में 10, चंडीगढ़ में चार और केरल एवं कर्नाटक में इसके तीन-तीन मामले पाए गए हैं।


वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट के 70 मामले मिले हैं। 

डेल्टा वैरिएंट में बदलाव के बाद ही डेल्टा प्लस वैरिएंट बना है, हालांकि, डेल्टा की तरह यह ज्यादा संक्रामक नहीं है।

महाराष्‍ट्र में सबसे ज्‍यादा केस

मंत्री ने बताया कि अल्फा वैरिएंट के 4,172, बीटा के 217 और गामा वैरिएंट का सिर्फ एक केस मिला है। महाराष्ट्र में डेल्टा प्लस के सबसे ज्यादा 23 मामले मिले हैं, उसके बाद मध्य प्रदेश में 11, तमिलनाडु में 10, चंडीगढ़ में चार और केरल एवं कर्नाटक में इसके तीन-तीन मामले पाए गए हैं।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget