जुहू में निर्माणाधीन तीन मंजिला झोपड़ा गिरा

पांच घायल, बारिश में बढ़े मकानों के गिरने के मामले 


मुंबई

बरसात में झोपड़े गिरने की घटना निरंतर बढ़ती जा रही है। मंगलवार की आधी रात को अंधेरी स्थित जुहू के पास तीन मंजिला निर्माणाधीन झोपड़ा गिर गया जिसकी चपेट में आने से पांच लोग घायल हो गए हैं। घायल अकबर शेख, चंदा शेख, अजरा शेख, आरिफ शेख तथा शमशुद्दीन शेख को इलाज के लिए कूपर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पर सभी की हालत स्थिर बनी हुई है।

उल्लेखनीय है कि जुहू स्थित मेहता बाबा चाल, अमर सोसायटी सलामी हॉटेल के पास, निर्माणाधीन झोपड़ा पास के छह झोपड़ों पर गिरा जिससे लोगों में अफरा तफरी मच गई। घर गिरने की जानकारी दमकल विभाग को दी गई। दमकल विभाग की चार गाड़ियों ने घटना स्थल पर पहुंच कर मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाला और कूपर अस्पताल ले जाया गया। मनपा की ओर से मलबा हटाने के लिए 75 कर्मचारियों सहित रेस्क्यू टीम तैनात की गई।

अवैध झोपड़ों पर नहीं खुल रही मनपा की नींद

मुंबई में पिछले एक महीने के भीतर तीन जगहों पर तीन मंजिला झोपड़े गिरने की घटना घटी। जिसमें 16 लोगो की जान गई और 12 लोग घायल हुए है। सबसे पहले मालाड के मालवणी में घटना घटी जिसमें सात मासूम बच्चों की भी जान गई थी। मालाड की घटना पर मुंबई हाईकोर्ट ने खुद संज्ञान लेते हुए मनपा प्रशासन से तीन मंजिला अवैध झोपड़ों की जानकारी मांगी थी। साथ ही अवैध झोपड़ों पर कठोर कार्रवाई का भी कोर्ट ने निर्देश दिया था। अगले साल होने वाले मनपा चुनाव को देखते हुए राजनीतिक पार्टियों के दबाव के कारण मनपा अधिकारी तीन मंजिला अवैध झोपड़ों को तोड़ने की कार्रवाई नहीं कर पा रहे हैं। यहां यह बताना भी जरूरी है कि पिछले डेढ़ साल से छाए कोरोना संकट के बीच कोर्ट ने खुद अवैध निर्माणों पर कार्रवाई नहीं करने का आदेश दिया था. इसी की आड़ में पिछले डेढ़ साल में और अवैध निर्माण की बाढ़ सी आई है, जिसमें अब एक मंजिला अवैध झोपड़ों को तीन मंजिला बनाया जा रहा है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget