हरियाणा कांग्रेस की कलह पहुंची दिल्ली

कुमारी सैलजा के खिलाफ हुड्डा गुट के 23 विधायक लामबंद


नई दिल्ली

पंजाब और राजस्थान कांग्रेस में मची कलह अभी खत्म भी नहीं हुई है कि अब हरियाणा में पार्टी में नए सिरे से घमासान मच गया है। हरियाणा के कांग्रेसी विधायकों के एक गुट ने कुमारी सैलजा को हटाकर दीपेंद्र सिंह हुड्डा या भूपिंदर हुड्डा को प्रदेश अध्यक्ष बनाने के लिए लामबंदी शुरू कर दी है। हुड्डा गुट के विधायकों ने सोमवार को इस बाबत संगठन महासचिव वेणुगोपाल से दिल्ली में मुलाकात की। इसके पहले हरियाणा कांग्रेस के 23 विधायकों ने हुड्डा के घर जुटकर शक्ति प्रदर्शन किया। हरियाणा कांग्रेस में कलह अब खुलकर सामने आ गई है1 हुड्डा गुट के विधायक दिल्ली दरबार पहुंचकर प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा को हटाकर हुड्डा परिवार को सूबे में पार्टी की कमान देने की मांग कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक भूपेंद्र हुड्डा समर्थक विधायकों ने पिछले दिनों पार्टी के प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल से मुलाकात कर दीपेंद्र हुड्डा या पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर हुड्डा को प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी देने की मांग की थी। सोमवार को कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के साथ भी हुड्डा समर्थक गुट के विधायकों ने मुलाकात कर एक बार फिर यह मांग दोहराई। दरअसल यह विधायक दिल्ली में मेल-मुलाकातों के जरिए यह संदेश देना चाहते हैं कि हरियाणा में कांग्रेस के सबसे बड़े नेता भूपिंदर हुड्डा ही हैं और उनको नजरअंदाज कर के पार्टी नहीं चल सकती। वेणुगोपाल से मिलकर निकलने वाले विधायक बीबी बत्रा ने साफ कहा कि सूबे के सबसे बड़े नेता भूपिंदर हुड्डा ही हैं, और उनको साथ लेकर ही नेतृत्व को चलना चाहिए। वहीं, दीपेंद्र को अध्यक्ष बनाने की कुछ विधायकों की मांग पर पार्टी के एक अन्य विधायक कुलदीप वत्स ने कहा कि दीपेंद्र हुड्डा में हर भूमिका निभाने की क्षमता है और वो बहुत ऊर्जावान नेता हैं। कुलदीप कहते हैं कि फैसला तो पार्टी हाइकमान करेगा, लेकिन हुड्डा परिवार को दरकिनार कर कांग्रेस नहीं चल सकती।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget