आज से गोल्ड हॉलमार्किंग अनिवार्य

पहले चरण में गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु के सभी जिलों में लागू होगी योजना


नई दिल्ली

सोने के गहने और कलाकृतियों में अनिवार्य हॉल मार्किंग की व्यवस्था का पहला चरण कल यानी शुक्रवार से देश के 256 जिलों में शुरू हो जाएगा। इन 256 जिलों में सोने के गहने बिना हॉलमार्क किए नहीं बेचे जा सकेंगे। पहले चरण में गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु के सभी जिलों को इस व्यवस्था के तहत जोड़ा गया है।

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की ओर से उपलब्ध कराई गई जानकारी के मुताबिक हॉलमार्किंग की व्यवस्था का पहला चरण 16 जुलाई से जरूर शुरू हो रहा है, लेकिन अगस्त 2021 तक इस मामले में किसी भी तरह की पेनाल्टी नहीं लगाई जाएगी। इसके साथ ही सालाना 40 लाख रुपए तक के कारोबार वाले ज्वेलर्स को अनिवार्य हॉल मार्किंग से छूट भी दी जाएगी। अभी हॉल मार्किंग की ये व्यवस्था सिर्फ उन्हीं 256 जिलों में शुरू की जा रही है, जहां सोने की शुद्धता की जांच करने के लिए सेंटर स्थापित कर दिए गए हैं। हॉल मार्किंग की व्यवस्था अनिवार्य हो जाने के बाद अब सिर्फ 22 कैरेट, 18 कैरेट और 14 कैरेट के गहने ही बेचे जा सकेंगे। नियमों के मुताबिक अगर कोई ज्वेलर हॉलमार्क किए बिना ही सोने के गहने को बेचता पाया गया, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई शुरू की जाएगी। इस मामले में दोषी पाए जाने पर ज्वेलर को 1 साल की सजा के साथ ही गहने की कीमत से 5 गुना तक पेनाल्टी लगाने का भी प्रावधान किया गया है।

आपको बता दें कि हॉलमार्किंग से ग्राहक के हित सुरक्षित होते हैं। इससे सोने की खरीद के वक्त होने वाली किसी भी तरह की धोखाधड़ी से ग्राहक काफी हद तक सुरक्षित हो जाता है। सोने पर हॉलमार्क के तहत डाले गए नंबर से ग्राहक को इस बात की गारंटी मिल जाती है कि वो जिस गहने को ले रहा है, वो गहना कितना शुद्ध है। सोने के हर कैरेट के लिए अलग हॉलमार्क नंबर दिए जाते हैं। उदाहरण के लिए 22 कैरेट के लिए नंबर के रूप में 916 का इस्तेमाल किया जाता है। इसी तरह 18 कैरेट के लिए 750 और 14 कैरेट के लिए नंबर के रूप में 585 का इस्तेमाल किया जाता है। इन नंबर्स के जरिए आसानी से पता लगाया जा सकता है कि सोना कितने कैरेट का है।

केंद्र सरकार ने 2019 के नवंबर महीने में ही सोने के गहनों के लिए गोल्ड हॉलमार्किंग रूल्स का ऐलान किया था। ज्वेलर्स को इसके लिए सारी व्यवस्थाएं करने के लिए 1 साल से अधिक का समय दिया गया था। इसके तहत जनवरी 2021 से हॉलमार्किंग की व्यवस्था पूरे देश में लागू की जानी थी लेकिन देश भर के ज्वेलर्स के संगठनों ने कोरोना संकट का हवाला देते हुए केंद्र सरकार से समय बढ़ाने की मांग की थी। इसके बाद दो बार समय सीमा बढ़ाई गई लेकिन अब समयसीमा का अंत आ चुका है। इस कारण अब पहले चरण में ये व्यवस्था कल से देश के 256 जिलों में शुरू हो जाएगी।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget