दो लाख के इनामी का मोस्ट वांटेड की सूची में नाम नहीं

प्रयागराज

पूर्व सांसद अतीक अहमद के बेटे दो लाख के इनामी मो. उमर का नाम यूपी पुलिस की मोस्ट वांटेड की सूची में शामिल नहीं है। पुलिस की ऑफीसियल वेबसाइट पर मोस्ट वांटेड में 23 अपराधियों का नाम और फोटो है, जिन पर 50 हजार से ढाई लाख रुपए तक का इनाम है। इस सूची में न तो मो. उमर का नाम है और ना ही एक लाख के इनामी आईपीएस मणिलाल पाटीदार का। वहीं, प्रयागराज के पड़ोसी जिले प्रतापगढ़ का सुभाष यादव वांटेड की सूची में शामिल है। सुभाष डेढ़ लाख का इनामी है। इस सूची में सीबीआई की ओर से वांटेड किए गए लोगों का नाम भी शामिल है। लखनऊ के प्रॉपर्टी डीलर मोहित जायसवाल को अगवा करके देवरिया जेल में पीटने और रंगदारी वसूलने के मामले में अतीक अहमद समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई ने अतीक के बड़े बेटे मो. उमर को देवरिया जेल कांड में वांटेड किया है। उस पर दो लाख का इनाम घोषित है। वह एक साल से अधिक समय से फरार है पर यूपी पुलिस की मोस्ट वांटेड सूची में शामिल नहीं है। ऐसे ही महोबा के पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार क्रशर कारोबारी इंद्र कांत त्रिपाठी को आत्महत्या के लिए उकसाने और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में वांटेड है। इस पुलिस अफसर का नाम भी मोस्ट वांटेड सूची में नहीं है। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget