एक घंटे की बारिश से मुंबई पानी-पानी

जलजमाव के बने नए स्पॉट, फूटा लोगों का गुस्सा

mumbai rain

मुंबई

गुरुवार की रात को एक घंटे की जोरदार बरसात में मुंबई फिर से जलमग्न हो गई। मुंबई और उपनगरों के इलाके में जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। बारिश से सड़क यातायात प्रभावित हुआ ही लोकल के पहिए भी थम गए। पिछले 24 घंटों में सांताक्रूज में 253 मिमी बारिश हुई, जबकि कुछ दूरी पर स्थित कोलाबा में केवल 53 मिमी बारिश हुई। पिछले वर्ष की तरह इस बार भी जलजमाव के नए स्पॉट बनने से मुंबईकरों का गुस्सा मनपा पर फूटा है। पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे और महापौर किशोरी पेडणेकर ने जलजमाव वाले इलाकों को दौरा कर वहां के हालात का जायजा लिया।

हिंदमाता, गांधी मार्केट में जमा पानी

पिछले वर्ष मस्जिद बंदर, भुलेश्वर जैसे इलाके जलजमाव के नए स्पॉट के रुप में दिखे थे। इस बार वडाला पूर्व के इलाके पानी में डूब गए। उंचाई पर स्थित ये इलाके 2005 में आई बाढ़ में भी बचे हुए थे। मनपा द्वारा चिन्हित जलजमाव वाले इलाके जिनमें हिंदमाता, सायन का गांधी मार्केट, मिलन सबवे सबकी जुबान पर है। हल्की बरसात में भी यहां पानी भर जाता हैं। मनपा ने यहां पर पंपिंग स्टेशन बनाकर दावा किया था कि अब यहां पानी नहीं भरेगा, लेकिन मनपा का दावा खोखला साबित हुआ।

इन इलाकों में भरा पानी

मुंबई शहर के गांधी मार्केट सायन, हिंदमाता सिनेमा, वडाला ब्रिज, संगम नगर, किंग सर्कल, पूर्व उपनगर के कुर्ला सबवे, कुर्ला सिग्नल एलबीएस रोड, पी एल लोखंडे मार्ग, मानखुर्द सबवे, आरसीएफ कालोनी, सांडू गार्डन, अंजनबाई नगर, अणुशक्ति नगर, पश्चिम उपनगर के ओबेराय मॉल, मिलन सबवे, साईनाथ सबवे, अंधेरी मार्केट, खार स्टेशन, शास्त्री नगर, अजीत ग्लास, नेशनल कॉलेज, दहिसर सबवे, पानी में डूब गए थे।

250 नागरिकों को किया शिफ्ट

मीठी नदी का जलस्तर 3।90 मीटर बढ़ने के कारण सुरक्षा की दृष्टि से मनपा ने क्रांतिनगर इलाके के 250 लोगों को वहां से शिफ्ट कर बैल बाजार स्थित मनपा के स्कूल में रखा। जलस्तर कम होने के बाद सभी अपने घर वापस आए।

बेस्ट का भी चक्का हुआ जाम

भारी बरसात से हुए जलजमाव के कारण बेस्ट को 60 से अधिक बसों के मार्ग में परिवर्तन करना पड़ा। चार बसों की सेवाएं निलंबित करनी पड़ी। इस दौरान बेस्ट की 61 बसें खराब होकर जगह-जगह बंद पड़ गई जिससे बेस्ट का चक्का काफी देर तक जाम रहा। जिनमें से पानी कम होने पर 59 बसों को दुरुस्त कर लिया गया। एक घंटे की जोरदार बरसात में अधिकांश इलाकों में घुटनों तक पानी भर गया था।

जलभराव की होगी जांच

इस बार मानसून में जलजमाव के कुछ नए स्पॉट बने हैं जो हमारे संज्ञान में है। नए स्पॉट क्यों हुए हम इसकी जांच कराएंगे। बरसात में भी मनपा कर्मचारी काम पर थे। कुछ जलजमाव वाले इलाकों में मैन पॉवर जरुर कम पड़ गए थे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget