धोलावीरा वर्ल्ड हेरिटेज घोषित


नई दिल्ली

गुजरात के हड़प्पा काल के शहर धोलावीरा को यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में शामिल किया गया है। यह वर्तमान में गुजरात के कच्छ जिले में पड़ता है। पीएम मोदी ने इस उपलब्धि पर देशवासियों को बधाई दी है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर धोलावीरा की अपनी यात्रा की तस्वीरें साझा की और बताया कि वो हड़प्पा काल के इस शहर को देखकर कितने प्रभावित थे।

पीएम ने धोलावीरा वर्ल्ड हेरिटेज में शामिल करने के ऐलान वाले यूनेस्को के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा, 'इस खबर को सुनकर बेहद खुश हूं। धोलावीरा एक महत्वपूर्ण शहरी केंद्र था और अतीत से हमारा लिंक है। यहां जरूरी जाना चाहिए, खासकर इतिहास, संस्कृति और पुरातत्व में दिलचस्पी रखने वालों को।'

पीएम मोदी ने कहा कि जब वो छात्र जीवन में धोलावीरा घूमने गए थे, तबसे ही वो इसकी खूबसूरती के कायल हो गए। इसके अलावा सीएम रहते हुए भी धोलावीरा के संरक्षण के लिए उन्होंने कदम उठाए थे। पीएम ने इसकी जानकारी देते हुए ट्वीट किया, 'मैं अपने छात्र जीवन में धोलावीरा घूमने गया था और इस जगह को देखकर मंत्रमुग्ध हो गया था।' पीएम ने आगे लिखा कि मुख्यमंत्री रहते हुए उन्हें इस धरोहर के संरक्षण और जीर्णोद्धार से जुड़े कामों के अवसर मिले। उनकी टीम ने यहां पर्यटन को बढ़ाना देने वाला इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार किया था।

गौरतलब है कि धोलावीरा की गिनती दक्षिण एशिया के सबसे पुराने शहरों में होती है। इसकी खोज 1968 में की गई थी। माना जाता है कि हड़प्पा काल के शीर्ष 5 शहरों में धोलावीरा शामिल था। 

यहां पर शहरी व्यवस्था को बेहतरीन तरीके संरक्षित किया गया था। कहा जाता है कि धोलावीरा 54 एकड़ में फैला था। इस शहर की खासियत इसकी बेहतरीन जलसंरक्षण व्यवस्था थी।

इसके अलावा उस वक्त भी जल निकासी के लिए इस शहर में जैसी व्यवस्था मिली हैं, जो यह दिखाता है कि यह शहर अपने वक्त में कितना आधुनिक रहा होगा। इसके अलावा शहर में कुछ साइन बोर्ड भी पुरातत्व विभाग को मिले थे, हालांकि ये किस भाषा में थे यह आज तक रहस्य ही है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget