तालिबान को राष्ट्रपति गनी पसंद नहीं


नई दिल्‍ली

अफगानिस्तान में विदेशी बलों की वापसी के बाद से ही तालिबान लगातार देश पर अपनी पकड़ मजबूत कर रहा है। इस बार तालिबान ने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी को सत्ता छोड़ने की सलाह तक दे डाली है। तालिबान ने कहा कि वह सत्ता पर एकाधिकार नहीं चाहता। लेकिन अफगानिस्तान में तब तक शांति नहीं हो सकती जब तक राष्ट्रपति अशरफ गनी सत्ता से नहीं हट जाते और देश में बातबीच के जरिए नई सरकार नहीं बन जाती।

तालिबान के प्रवक्ता सुहेल शाहीन ने एसोसिएटेड प्रेस के साथ इंटरव्यू में यह बात कही। शाहीन वार्ता दल के सदस्य भी हैं। 

उन्होंने कहा कि तालिबान उस वक्त हथियार डाल देगा जब गनी की सरकार चली जाएगी और ऐसी सरकार सत्ता संभालेगी जो संघर्ष में शामिल सभी पक्षों को मंजूर हो। शाहीन ने कहा, मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि हम सत्ता पर एकाधिकार में विश्वास नहीं रखते क्योंकि कोई भी सरकार, जिसने अतीत में अफगानिस्तान में सत्ता पर एकाधिकार रखने की मंशा की, वह सफल सरकार साबित नहीं हुई।

तालिबान लड़ाकों और सुरक्षा बलों के बीच युद्ध जारी

प्रवक्ता ने इस आकलन में प्रत्यक्ष तौर पर तालिबान के खुद के पांच वर्ष के कार्यकाल को भी शामिल किया। साथ ही कहा, इसलिए हम वही फॉर्मूला दोहराना नहीं चाहते। तालिबान प्रवक्ता ने इस दौरान गनी को युद्ध को उकसाने वाला करार दिया और आरोप लगाया कि बकरीद के पर्व पर मंगलवार को उन्होंने जो भाषण दिया था उसमें उन्होंने तालिबान के खिलाफ कार्रवाई का वादा किया था। गौरतलब है कि देश के अलग-अलग हिस्सों में तालिबान लड़ाकों और अफगानी सुरक्षा बलों के बीच युद्ध जारी है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget