आयकर रिफंड मिलने में हो सकती है देरी


नई दिल्ली

आयकर विभाग की नई वेबसाइट की दिक्कतों से आम लोग, चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) के साथ-साथ आयकर अधिकारी भी परेशानी का सामना कर रहे हैं। आयकर अधिकारियों का कहना है कि अगर नई वेबसाइट में आ रही दिक्कतों को जल्द सुधारा नहीं गया तो रिफंड भी अटकने शुरू हो सकते हैं। इससे करदाताओं को रिफंड देने में देरी हो सकती है।

गौरतलब है कि रिफंड के मामले में पिछले साल विभाग का रिकॉर्ड अच्छा था, लेकिन इस साल जिस हिसाब से पोर्टल बेहद धीमी रफ्तार और आधा आधूरा चल रहा है, आने वाले दिनों में विभाग के पास मामले बड़ी संख्या में इकट्ठा होने की आशंका है जिससे इनका निपटारा भी तेजी से नहीं हो पाएगा। आयकर अधिकारी मामलों का सत्यापन करने के बाद ही उनकी स्क्रुटनी करते हैं और रिफंड की प्रक्रिया शुरू होती है। वेबसाइट ठीक तरह से न चलने की वजह से करदाताओं के पुराने मामले सामने नहीं आ रहे हैं। पिछले रिटर्न से मिलान किए बिना इस साल का रिफंड जारी नहीं किया जा सकेगा। साथ ही टैक्स से जुड़े विवादित मामलों का निपटारा भी विभाग के लिए टेढ़ी खीर होता जा रहा है। लंबे समय से पेडिंग अपील की सुनवाई प्रभावित हो रही है। कई मामलों से जुड़े ऑनलाइन नोटिस भी लोगों को वेबसाइट के जरिए ही मिलते थे। पूरी प्रक्रिया की निर्भरता ऑनलाइन हो गई थी। ऐसे में इसकी सुस्ती से वो काम भी बुरी तरह अटका है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक नई वेबसाइट में आ रही कमियों को अधिकारियों ने सूची बनानी शुरू कर दी है। इसके बाद अगले हफ्ते वित्तमंत्री को वो सूची सौंप कर उन्हें दूर करने की अपील की जाएगी। मामले से जुड़े एक अधिकारी के मुताबिक पोर्टल पर किसी भी मामले की स्क्रुटनी करना अधिकारियों के लिए असंभव सा हो गया है, क्योंकि पिछले रिटर्न से जुड़े आंकड़े नजर ही नहीं आ पा रहे हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget