क्वार्टर फाइनल में लवलिना बोरगोहेन


तोक्यो

तोक्यो ओलिंपिक में मंगलवार को भारतीय खिलाड़ी कोई मेडल नहीं जीत सके। शूटिंग में 10 मीटर एयर पिस्टल और 10 मीटर एयर राइफल के मिक्स्ड इवेंट में भारतीय निशानेबाजों ने निराश किया। टेबल टेनिस में अचंता शरत कमल नंबर-1 खिलाड़ी के सामने कड़ी चुनौती पेश करने बावजूद हार गए। हालांकि मुक्केबाजी और हॉकी में अच्छी खबरें जरूर मिली हैं। महिला मुक्केबाज लवलिना बोरगोहेन 69 किलोग्राम वेट कैटेगरी के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई हैं। वहीं, पुरुष हॉकी टीम ने स्पेन को 3-0 से हराकर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले मुकाबले में मिली हार की निराशा को पीछे छोड़ दिया है।

3-2 से जीतीं लवलिना

पहली बार ओलिंपिक में हिस्सा ले रही लवलिना बोरगोहेन ने दमदार खेल दिखाते हुए जर्मनी की नादिने एपेट्ज को हराया। 23 साल की लवलिना ने 35 साल की जर्मन प्रतिद्वंद्वी पर तीनों राउंड में हावी रहीं। उन्होंने यह बाउट स्प्लिट डिसीजन के आधार पर 3-2 से जीता। लवलिना अब मेडल पक्का करने से सिर्फ एक जीत की दूरी पर हैं। बॉक्सिंग में सेमीफाइनल में पहुंचते ही कम से कम ब्रॉन्ज मेडल पक्का हो जाता है। लवलिना की क्वार्टर फाइनल बाउट 30 जुलाई को चाइनीज ताइपे की चिन निएन चेन से होगी। बॉक्सिंग में भारत की सिर्फ एक महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम ही ओलिंपिक मेडल जीत पाई हैं। मैरीकॉम ने 2012 लंदन ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। मैरीकॉम तोक्यो ओलिंपिक में भी प्री क्वार्टर फाइनल में पहुंच चुकी हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget