माइग्रेन का दर्द हैं तो आजमाएं ए€युप्रेशर


पहले लगातार एक महीने तक एक्युप्रेशर ट्रीटमेंट दिया। इसके तहत प्रतिभागियों के सिर, गर्दन और हथेली में मौजूद एमएच-9, जीबी-20 व एलआई-4 एक्युप्रेशर केंद्र नियमित अंतराल पर दबाए जाते थे। वहीं, दूसरे समूह को मांसपेशियों में खून का प्रवाह सुचारु बनाकर उन्हें सुकून पहुंचाने वाली दवाएं खिलाई गईं।

तीन केंद्रों का कमाल-

एलआई-4

अंगुठे और तर्जनी उंगली के बीच में पाया जाता है एलआई-4 

सिरदर्द के अलावा उल्टी-मिचली की शिकायत दूर करने में कारगर

जिस तरफ दर्द हो, उसी ओर के अंगुठे-तर्जनी से एल  आकार बनाएं

इसके बाद दूसरे हाथ की उंगलियों से एलआई-4 केंद्र को तेजी से दबाएं

ध्यान रखें कि आपकी उंगलियों से इतना जोर लगना चाहिए कि हाथों में दर्द महसूस हो

15 से 30 सेकेंड के लिए दबाए रखें एलआई-4 केंद्र को

10 से 15 सेकेंड के अंतराल पर पांच बार दोहराएं यह प्रक्रिया

गर्भावस्था में इस्तेमाल से बचें-

शोधकर्ताओं ने गर्भावस्था में सिरदर्द से छुटकारा पाने के लिए एलआई-4  का इस्तेमाल करने से बचने की सलाह दी है। दरअसल, कुछ अध्ययनों में प्रसव पीड़ा उभारने में इस केंद्र की अहम भूमिका पाई गई है।

जीबी-20

गर्दन के पीछे खोपड़ी के निचले हिस्से में मौजूद होता है जीबी-20  एक्युप्रेशर केंद्र।

सिर के पिछले हिस्से और गर्दन में होने वाले दर्द से निजात दिलाने में सर्वाधिक कारगर।

दोनों हाथों की उंगलियों को आपस में फंसाते हुए सिर के पिछले हिस्से की ओर ले जाएं।

अब अंगुठों से खोपड़ी के निचले हिस्से को दबाव, दोनों ओर बराबर की ताकत लगाएं।

जीबी-20 को एक बार में 15 से 30 सेकेंड ही दबाएं।

05 बार यह प्रक्रिया दोहराने पर दर्द की तीव्रता घट जाती है।

 एम-एचएन-9 

माथे, नाक, आंख और भौहों के आसपास में असहनीय दर्द हो तो एम-एचएन-9 दबाना फायदेमंद।

यह एक्युप्रेशर केंद्र दोनों भौहों के किनारे मिलेगा, छूने पर आपको हल्का खोखलापन-सा महसूस होगा।

मध्यमा उंगली से एम-एचएन-9 को जोर से दबाएं, इस दौरान यह सुनिश्चित करें कि आपको दर्द महसूस हो।

एक बार में एम-एचएन-9 को 30 सेकेंड अधिकतम दबाएं।

03 बार दिन में पांच से सात बार दबाने पर माइग्रेन का दर्द नहीं उठेगा।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget