बरेका निर्मित 100वां रेल इंजन 'WAG9HC' राष्‍ट्र को समर्पित

वाराणसी

बनारस रेलइंजन कारखान की महाप्रबंधक अंजलि गोयल की उपस्थिति में शनिवार को न्‍यू लोको टेस्‍ट शॉप में आयोजित एक समारोह में वित्‍तीय वर्ष 2021-22 में निर्मित 100वें रेल इंजन 'WAG9HC' को हरी झंडी दिखाकर राष्‍ट्र की सेवा में समर्पित किया गया। इस अवसर पर महाप्रबंधक कोविड-19 के खिलाफ अथक लड़ाई में हेल्‍थकेयर वर्कर्स (कोरोना वारियर्स) के योगदान के लिए 100वें रेलइंजन को मेडिकल टीम को समर्पित किया। साथ ही कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए उत्पादन जारी रखने के लिए बरेका के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के प्रयासों की सराहना की। यह उपलब्धि और भी प्रशंसनीय है, क्‍योंकि बरेका कर्मचारी कोविड-19 की द्वितीय लहर से गंभीर रूप से प्रभावित होते हुए भी, लगभग 25 प्रतिशत कर्मचारी कोविड पॉजिटिव थे, सभी गतिविधि 50 प्रतिशत कर्मचारी क्षमता द्वारा की गयी थी।

उल्‍लेखनीय है कि यह 100वां रेलइंजन 6000 हार्स पवर का मालवाहक विद्युत लोको 6000 टन की मालगाड़ी को अकेले खींच सकता है। इसमें रिजेनरेटिव ब्रेकिंग सि‍स्‍टम की वजह से 15 से 20 प्रतिशत ऊर्जा की बचत होगी। इसकी अधिकतम गति 100 किलोमीटर प्रति घंटा है। इसमें चालक की सुविधा के लिए चालक कक्ष को पूर्णतया वातानुकूलित बनाया गया है। यह रेलइंजन पूर्व रेलवे के आसनसोल विद्युत लोको शेड को भेजा गया। प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत मिशन में इन इंजनों के निर्माण में लगभग 98 प्रतिशत स्वदेशी उपकरणों का प्रयोग हुआ है। इससे एमएसएमई और घरेलू विनिर्माण क्षेत्र को काफी सहायता मिल रही है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget