बाढ़ ने 100 करोड़ के सिल्क कपड़ों के ऑर्डर पर लगाया ब्रेक

भागलपुर

 बाढ़ के कारण भागलपुर जिले में बड़े पैमाने पर बर्बादी के साथ इसका असर कारोबार पर भी दिखने लगा है। जिले के नाथनगर, चंपानगर, मदनीनगर आदि क्षेत्र में बुनकरों के एक हजार से अधिक पावरलूम पानी में डूबकर खराब हो गए हैं। इसके कारण यहां के बुनकरों को सिल्क कपड़े के लिए मिले सौ करोड़ से अधिक के ऑर्डर पर ब्रेक लगता दिख रहा है। बुनकरों का दर्द है कि कोरोना काल के बाद मिले ये ऑर्डर अगर कैंसल हो जाते हैं तो उन्हें गंभीर आर्थिक नुकसान होगा। कोरोना की दूसरी लहर के बाद 15 दिन पहले ही मुंबई, बेंगलुरू, कोलकाता, दिल्ली आदि शहरों से सौ करोड़ रुपए से अधिक के ऑर्डर मिले थे। इसमें मुख्य रूप से साड़ी, शूट व दुपट्टे एक माह में तैयार करने थे। पिछले एक सप्ताह से बुनकरों के घर में बाढ़ का पानी जमा है। पावरलूम डूब गए हैं। धागा खराब हो चुका है। ऐसे में बुनकरों के लिए समय पर ऑर्डर पूरा करना मुश्किल है। उन्हें यह डर सताने लगा है कि उनके ऑर्डर कैंसिल हो जाएंगे। हालांकि बुनकरों ने व्यापारियों से कपड़ा तैयार करने के लिए कुछ मोहलत मांगी है। चंपानगर तांती बाजार के बुनकर हेमंत कुमार ने बताया कि केरल से ओणम को लेकर कॉटन साड़ी की विशेष मांग थी। बाढ़ के कारण कपड़ा तैयार नहीं हो पा रहा है। अधिकांश बुनकरों की मशीनें खराब हो चुकी हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget