12 कंपनियों ने आईपीओ से जुटाए 27,000 करोड़


नई दिल्ली

चालू वित्त वर्ष के पहले चार माह में 12 कंपनियों ने आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिये 27,000 करोड़ रुपए जुटाए हैं। शेष बचे साल के लिए आईपीओ की पाइपलाइन काफी मजबूत है। इसके अलावा चार अन्य कंपनियों जिनमें देवयानी इंटरनेशनल, विंडलास बायोटेक, कृष्णा डायग्नॉस्टिक्स तथा एक्सारो टाइल्स के आईपीओ चार अगस्त को खुलने जा रहे हैं। सैंक्टम वेल्थ मैनेजमेंट के इक्विटी प्रमुख हेमांग कपासी ने कहा कि शेष साल में करीब 40 आईपीओ आ सकते हैं। इनसे 70,000 करोड़ रुपए जुटने की उम्मीद है। साथ ही बड़ी संख्या में खुदरा निवेशकों से जुड़े ब्रांड शेयर बाजारों में सूचीबद्ध होंगे। इन्वेस्ट 19 के संस्थापक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) कुशलेन्द्र सिंह सेंगर ने कहा कि पेटीएम, मोबिक्विक, पॉलिसी बाजार, कारट्रेड टेक, दिल्लीवेरी और नायका के आईपीओ की वजह से वित्त वर्ष के दौरान निवेशक व्यस्त रहेंगे। उन्होंने कहा कि शेयर बाजारों में जबर्दस्त तेजी की वजह से कंपनियां आईपीओ मार्ग से धन जुटाने को प्राथमिकता दे रही हैं। उन्होंने कहा कि कंपनियां ऊंचे मूल्यांकन पर अपनी हिस्सेदारी बेच रही हैं। इस वजह से प्रवर्तक भी भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास आईपीओ के लिए शुरुआती दस्तावेज जमा करा रहे हैं। आंकड़ों के विश्लेषण के अनुसार, चालू वित्त वर्ष के पहले चार महीनों अप्रैल-जुलाई के दौरान 12 कंपनियों ने आईपीओ के जरिये 27,052 करोड़ रुपए जुटाए हैं। इसके अलावा पावर ग्रिड कॉरपोरेशन द्वारा प्रायोजित पावर ग्रिड इनविट ने आईपीओ मार्ग से 7,735 करोड़ रुपए जुटाए हैं। इससे पहले 2020-21 के पूरे वित्त वर्ष में 30 कंपनियों ने आईपीओ से 31,277 करोड़ रुपए जुटाए थे। वित्त वर्ष 2019-20 में 13 कंपनियों ने आईपीओ से 20,352 करोड़ रुपए जुटाए थे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget