स्वतंत्रता दिवस पर 1380 पुलिस कर्मियों को सम्मान

 शूरवीरों के नाम का ऐलान


नई दिल्ली

75वें स्वतंत्रता दिवस पर 1380 पुलिसकर्मियों को वीरता के लिए पुलिस मेडल से सम्मानित किया जाएगा। 628 वीरता पुरस्कारों में से एक राष्ट्रपति पुलिस पदक (PPMG) जम्मू-कश्मीर पुलिस को और एक केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) को मरणोपरांत दिया जाएगा। गृह मंत्रालय के अनुसार, 398 पुलिसकर्मी जम्मू-कश्मीर में वीरता दिखाने के लिए सम्मानित होंगे। वहीं, वामपंथी उग्रवाद प्रभावित इलाकों में साहस के लिए 155 कर्मियों और उत्तर-पूर्व क्षेत्र में 127 कर्मियों को सम्मानित किया जाएगा।

वीरता पदक से सम्मानित होने वालों में जम्मू-कश्मीर पुलिस से 256, CRPF से 151, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) से 23, ओडिशा पुलिस से 67, महाराष्ट्र पुलिस से 25, छत्तीसगढ़ से 20 और दूसरे राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों से शामिल हैं।

गलवान में बहादुरी दिखाने वाले जवानों को सम्मान

सम्मानित होने वाले ITBP के 23 जवानों में 20 ने पूर्वी लद्दाख में झड़पों के दौरान बहादुरी दिखाई। गलवान में वीरता दिखाने और मातृभूमि की रक्षा के लिए आठ कर्मियों को PMG से सम्मानित किया जाएगा। फिंगर IV इलाके में हिंसक झड़प के दौरान वीरतापूर्ण कार्रवाई के लिए छह कर्मियों को PMG के लिए नामित किया गया है। फिंगर IV इलाके में 18 मई 2020 को हिंसक झड़प के दौरान वीरतापूर्ण कार्रवाई के लिए ITBP के छह कर्मियों के नाम PMG के लिए घोषित हुए हैं।

वहीं, 18 मई 2020 को लद्दाख में हॉट स्प्रिंग्स के पास साहसिक कार्य के लिए ITBP के छह कर्मी PMG से सम्मानित किए जाएंगे। इनके अलावा, छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियानों में साहस, धैर्य और दृढ़ संकल्प दिखाने के लिए तीन व्यक्तियों को PMG से सम्मानित किया जाएगा।

ITBP जवानों ने PLA को मुंहतोड़ जवाब दिया

बता दें कि पूर्वी लद्दाख में ITBP के जवानों ने PLA के सैनिकों को मुंहतोड़ जवाब दिया। उन्होंने भीषण झड़पों के दौरान स्थिति को नियंत्रण में रखा। जवानों ने कंधे से कंधा मिलाकर लड़ाई लड़ी और घायल सैनिकों को भी सुरक्षित निकाला। कई बार उन्होंने पूरी रात लड़ाई लड़ी और PLA के पत्थरबाजों को सबक सिखाया।

व्यक्तिगत सुरक्षा की परवाह किए बिना की देश की रक्षा

हिमालय की बर्फीली पहाड़ियों पर तैनाती के लिए ITBP जवानों को हाई लेवल की ट्रेनिंग मिली है। इस अनुभव के चलते सैनिकों ने PLA सैनिकों को प्रभावशाली ढंग से रोके रखा। उन्होंने व्यक्तिगत सुरक्षा की परवाह न करते हुए PLA की हिंसक शारीरिक हाथापाई का सामना किया और दृढ़तम पेशेवर कौशल का प्रदर्शन किया।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget