5 साल के मासूम की हत्या कर खेत में फेंकी लाश

गोरखपुर

गोरखपुर के  पिपराइच क्षेत्र के मटिहनिया सोमाली गांव में छत पर मां के साथ सो रहे पांच साल के बच्चे की गुरुवार की सुबह गन्ने के खेत में लाश मिली। मासूम की निर्मम हत्या की गई थी। हत्यारों ने उसके दोनों हाथ पीछे कर बांध दिए थे और उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा। एसएसपी ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया।

मटिहनियां सोमाली गांव निवासी दिलीप निषाद बुधवार की रात में खाना खाने के बाद पत्नी सुमन देवी, 7 वर्षीय बेटे नरेंद्र और 5 वर्षीय बेटे गजेंद्र के साथ छत पर सोने चले गए। भोर में तकरीबन 4 बजे दिलीप की नींद खुली। उन्होंने देखा कि उनका छोटा बेटा गजेंद्र बिस्तर पर नहीं था। उन्होंने पत्नी सुमन को जगाया और गजेंद्र के बारे में पूछा। इसके बाद दोनों बच्चे की तलाश करने लगे। कुछ सुराग नहीं मिलने पर परिवार में कोहराम मच गया। दिलीप के घर से रोने-बिलखने की आवाज सुनकर आस-पास के लोग भी वहां पहुंच गए और सभी ने गजेंद्र की तलाश शुरू कर दी। गजेंद्र का कहीं कोई पता नहीं चला तो गांव के लोगों ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दे दी।

मासूम बच्चे के गायब होने की खबर मिलते ही पिपराइच पुलिस गांव में पहुंच गई। पुलिस ने भी ग्रामीणों के साथ बच्चे की तलाश शुरू कर दी। लोगों ने गांव के बाहर खेत-खलिहानों के साथ ही तालाब में देखा लेकिन कुछ पता नहीं चला।

पुलिस के साथ ही मटिहनियां सोमाली गांव के लोग भी बच्चे की तलाश कर रहे थे। तकरीबन 11 बजे गांव के पश्चिम सरकारी ट्यूबवेल के पास रामानंद सिंह के गन्ने के खेत में लोगों ने बच्चे की लाश देखी। बच्चे की निर्ममता पूर्वक हत्या की गई थी। उसके दोनों हाथ पीछे कर काले रंग के कपड़े से बंधे थे। मुंह में कपड़ा ठूंस दिया गया था। इसके साथ ही उसके सिर को काले रंग के झोले से ढक दिया गया था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बच्चे की लाश अर्धनग्न हालत में पड़ी थी। उसके शरीर पर गंभीर चोट के निशान नहीं दिख रहे थे।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget