राज्य में डेल्टा प्लस के 65 मरीज

मुंबई 

कोरोना की रोकथाम और नियंत्रण के उपायों के अभिन्न अंग के रूप में नियमित आधार पर कोरोना वायरस की  जिनोमिक सिक्वेंसिंग की जा रही है। बुधवार को सीएसआईआर-आईजीआईबी प्रयोगशाला की रिपोर्ट में 20 और डेल्टा प्लस रोगियों का पता चला है, जिससे राज्य में मिले डेल्टा प्लस रोगियों की संख्या बढ़कर 65 हो गई है। नए 20 मरीजों में मुंबई के 7, पुणे के 3, नांदेड, रायगड, पालघर के 2-2 और चंद्रपुर और अकोला के 1-1 मरीज हैं।

जिनोमिक सिक्वेंसिग जांच में पता चला है कि राज्य के 80 प्रतिशत से अधिक सैंपल में डेल्टा वैरिएंट पाए गए हैं। सर्वेक्षण में अब तक राज्य में 65 डेल्टा प्लस वैरिएंट के मरीज मिले हैं। 65 मरीजों में से 32 पुरुष और 33 महिलाएं हैं। सबसे ज्यादा 33 डेल्टा प्लस के मरीज 19 से 45 साल के आयु वर्ग के हैं, इसके बाद 46 से 60 साल के आयु वर्ग के 17 मरीज हैं। इनमें 18 साल से कम उम्र के 7 बच्चे और 60 साल से ऊपर के 8 मरीज हैं। अब तक रिपोर्ट किए गए 65 रोगियों में से, रत्नागिरी जिले में एक मौत को छोड़कर, डेल्टा प्लस के रोगियों में बीमारी के हल्के से मध्यम लक्षण हैं। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि वायरस अपने आनुवांशिक रूप में बदलाव करता रहा है और यह वायरस के जीवन चक्र का हिस्सा है। इससे डरने की कोई आवश्यकता नहीं है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget