पूर्वांचल में नदियां उफान पर

दर्जनों गांवों का संपर्क टूटा, स्कूल-कॉलेज में घुसा पानी

वाराणसी

पूर्वांचल के जिलों में गंगा के साथ घाघरा ने भी तबाही मचा रखी है। सैकड़ों गांवों के साथ स्कूल-कॉलेज में भी पानी घुस गया है। दर्जनों गांवों का संपर्क टूट गया है। लोग सुरक्षित स्थानों की ओर रुख कर रहे हैं। मिर्जापुर में बाढ़ के पानी से चुनार, छानबे और कोन ब्लाॅक के कई गांव घिर चुके हैं। टम्मनगंज व रैपुरिया का संपर्क टूट जाने के कारण वहां नांव की व्यवस्था की गई है। गंगा उस पार पक्का पुल के बगल में बनवाया गया शवदाह गृह भी बाढ़ के पानी से डूब गया है। इससे अंतिम संस्कार करने में लोगों को दिक्कत हो रही है। भदोही में बाढ़ के पानी से सैकड़ों एकड़ खेत डूब चुके हैं। सब्जी की खेती बर्बाद हो रही है। चंदौली में 24 घंटे में चार फीट पानी बढ़ा है। बलुआ गंगा घाट डूबने के बाद पानी बाजार की तरफ बढ़ रहा है। तटवर्ती गांव धानापुर, दुल्लहीपुर, बलूआ और चहनियां के लोग चिंतित हैं। शहर के गंगाघाट बाढ़ की चपेट में है। प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। गाजीपुर का जमानियां श्मशान घाट जलमग्न हो चुका है। दाह संस्कार करने वालों के लिए यह मुसीबत बन गया है। मुहम्मदाबाद, भावरकोल, रेवतीपुर, सुहवल, करंडा आदि क्षेत्र का सिवान पूरी तरफ से बाढ़ के पानी से डूब चुका है। बलिया में गंगा के बाढ़ का पानी शुक्रवार की रात बैरिया तहसील के सुघरछपरा, गोपालपुर, उदयीछपरा, दूबेछपरा के साथ ही दयाछपरा ग्राम पंचायत में भोराछपरा, आलमराय के डेरा तक भी पहुंच गया है। अब नदी का रूख पांडेपुर गांव की ओर है। बाढ़ का पानी पीजी काॅलेज दूबेछपरा में पहुंच गया। इसके अलावा प्रावि सुघरछपरा व गोपालपुर, बालिका इंटर काॅलेज व इंटर कालेज दूबेछपरा में भी बाढ़ का पानी घुस गया है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget