पीएम से मिलकर सांसद ने ज्ञापन सौंपा


प्रतापगढ़

प्रतापगढ़ लोकसभा के सांसद संगम लाल गुप्ता ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भेंट कर प्रधानमंत्री को ज्ञापन  सौपा। सांसद ने आंवला किसानों की समस्या को उठाते हुए आंवला किसानों के हितों की रक्षा हेतु प्रतापगढ़ में स्थापित सनई अनुसंधान केंद्र को आंवला अनुसंधान केंद्र के रूप परिवर्तित करने की मांग की। सांसद ने प्रधानमंत्री से कहा कि दुनिया के सबसे अग्रणी रूप से आंवला उत्पादक जनपद होने के बावजूद भी प्रतापगढ़ के आंवला किसान परंपरागत आंवले की खेती करने और उसके अत्याधुनिक प्रोसेसिंग करने की तकनीक के अभाव में वैदेशिक मार्केट में प्रतिस्पर्धा में पिछड़ जाते हैं और अपने उत्पादों का समुचित मूल्य भी नहीं पाते।

उन्होंने प्रधानमंत्री को बताया कि आंवला ही एक मात्र ऐसा फल है, जिसमें हरे से लेकर सूख जाने तक विटामिन सी की प्रचुर मात्रा उपलब्ध रहती है और उसे आसानी से प्रिजर्वेशन और अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर पौष्टिकता के साथ-साथ सौंदर्य प्रसाधन में भी बड़े पैमाने पर उपयोग में लाया जा सकता है पर तकनीक और शोध के अभाव में प्रतापगढ़ के 6 विकास खंड आंवला फल पट्टी घोषित होने तथा वहां खेती के रूप में आंवला उत्पादन करने वाले किसान अब अपने बागान काटकर खत्म करने के कगार पर खड़े हैं।

 श्री गुप्ता ने कहा कि ऐसे हालात में जनपद प्रतापगढ़ मुख्यालय पर ही पूर्व से स्थापित सनई अनुसंधान केंद्र को यदि आंवला अनुसंधान केंद्र के रूप में परिवर्तित कर दिया जाय तो उसके रिसर्च से किसानों को आंवला उत्पादन में नई बेहतर प्रजातियां तथा प्रोसेसिंग में नई तकनीक और तरीके की जानकारी से इसे दुनिया की मार्केट में प्रतिस्पर्धात्मक तरीके से निर्यात कर एक आय का बेहतर साधन उपलब्ध कराया जा सकता है । 

उन्होंने प्रधानमंत्री को अवगत कराया कि जनपद प्रतापगढ़ एक उद्योग शून्य जनपद है जहां रोजगार का एक मात्र साधन खेती ही है और वर्तमान में सनई का उत्पादन जिले व आसपास के जनपदों में भी नहीं होता इसलिए इस अनुसंधान केंद्र को परिवर्तित कर आंवला अनुसंधान किया जाना सम सामयिक और प्रतापगढ़ के किसानों के लिए वरदान भी साबित हो सकता है ।

सांसद श्री गुप्ता ने प्रधान मंत्री से जनपद प्रतापगढ़ मुख्यालय के आसपास कृषि विज्ञान केंद्र स्थापित करने , सई नदी के तटबंधों पर बंधे का निर्माण कर उसपर बड़े पैमाने पर बम्बू ट्री लगवाकर एक पायलट पॉयलट प्रोजेक्ट बनवाने तथा जनपद प्रतापगढ़ के मूल निवासी स्वामी करपात्री जी को भारत रत्न प्रदान करने की भी पुरजोर मांग की ।

उन्होंने प्रधानमंत्री को बताया कि विश्व मे एकमात्र करपात्री जी ही ऐसे संत हैं जिन्हें धर्म सम्राट की उपाधि से विभूषित किया गया है और उन्होंने ही -धर्म की जय हो,अधर्म का नाश हो,प्राणियों में सद्भावना हो,विश्व का कल्याण हो,गौ हत्या बन्द हो,सत्य सनातन धर्म की जय हो का उद्घोष दिया था जिसे आज सर्वत्र यहां तक कि दुनिया के सभी देशों में सनातन धर्म के अनुयायियों द्वारा धार्मिक अनुष्ठानों के बाद उद्घोषित किया जाता है,इसलिये स्वामी करपात्री जी को भारत रत्न की उपाधि से विभूषित किया जाना चाहिये ।

प्रधानमंत्री सांसद संगम द्वारा उठाई गई सभी समस्याओं पर सरकार से आवश्यक मदद दिलाने का भरोसा दिलाया ।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget