अफगानिस्तान में आतंकी राज

राष्ट्रपति अशरफ गनी ने छोड़ा देश!


काबुल

अफगानिस्तान पर तालिबान ने कब्जा कर लिया। अली अहमद जलाली को अशरफ गनी की जगह अंतरिम राष्ट्र प्रमुख नियुक्त किया जा सकता है। सरकार ने बगराम वायुसेना अड्डा तालिबान को सौंप दी है। घबराये सरकारी कर्मचारी दफ्तर छोड़कर भाग निकले। खबर यह भी है कि अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर चले गए हैं। एक न्‍यूज एजेंसी के अनुसार, अशरफ गनी के ताजिकिस्तान जाने की सूचना है। आंतरिक मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी देश से ताजिकिस्तान के लिए रवाना हो गए हैं। उपराष्ट्रपति सालेह ने कहा कि मैं देश छोड़कर बाहर नहीं जाऊंगा।

जानकारी के मुताबिक, तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद का कहना है कि लूट और अराजकता को रोकने के लिए उनकी सेना काबुल के कुछ हिस्सों में प्रवेश करेगी और उन चौकियों पर कब्जा कर लेगी, जिन्हें सुरक्षा बलों ने खाली करा लिया है। शहर के लोग हमारे शहर में आने से घबराएं नहीं।

वहीं, दूसरी तरफ कई देश अफगानिस्तान में फंसे अपने नागरिकों को निकालने में लगे हैं। तालिबान अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के द्वार में प्रवेश कर चुका है। तालिबान ने रविवार को हर तरफ से अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में प्रवेश कर लिया था। सूत्रों के अनुसार, रविवार को नई अंतरिम सरकार के प्रमुख के रूप में अली अहमद जलाली के साथ तालिबान को सत्ता हस्तांतरित करने के लिए अफगान प्रेसिडेंशियल पैलेस में बातचीत हुई। तालिबान के प्रवक्ता का कहना है कि वह 'अगले कुछ दिनों' में अफगानिस्तान में सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तांतरण चाहता है। इससे पहले, तालिबान ने एक बयान में काबुल के निवासियों से कहा कि उन्हें डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि उनका इरादा सैन्य रूप से अफगान राजधानी में प्रवेश करने का नहीं है बल्कि वो शांतिपूर्ण तरीके से प्रवेश करेंगे। तालिबान ने कहा है कि उसने अपने लड़ाकों को काबुल के गेट के पास इंतजार करने के लिए कहा है और शहर में प्रवेश करने का प्रयास नहीं करने का आदेश दिया है। राष्ट्रपति भवन पर तालिबान ने कब्जा कर लिया है। 

देश लौटे भारतीय

अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार बनने वाली है। डर के इस माहौल के बीच काबुल में फंसे भारतीयों को एयर इंडिया सुरक्षित वतन वापस ले आई है। एयर इंडिया की एक फ्लाइट रविवार शाम को काबुल से भारतीयों को लेकर दिल्ली के लिए रवाना हुई थी।  फ्लाइट रडार के मुताबिक, एयरबस A320 फ्लाइट ने 12.43 बजे दिल्ली से उड़ान भरी और दो घंटे बाद 1.45 बजे काबुल में लैंडिंग की। इसे काबुल से शाम 4.15 पर उड़ान भरनी थी, लेकिन यह 5.03 पर उड़ान भर सकी। यह फ्लाइट 129 यात्रियों को लेकर आई है।

काबुल से भाग रहे लोग

अफगानिस्तान में तालिबान सरकार बनाने के करीब है। राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने देश छोड़ दिया है। ऐसे में अफगानिस्तान में तनाव का माहौल है। अफगानी नागरिकों के साथ दूसरे देशों के लोग भी यहां से भाग रहे हैं। काबुल एयरपोर्ट पर भारी जाम लगा है। तालिबान ने लोगों को भरोसा दिलाया है, कि जो काबुल छोड़कर जा रहे हैं, उन्हें जाने दिया जाएगा।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget