समाज में कानून का राज कायम रखना मेरा उद्देश्य

दीक्षांत परेड समारोह में बोले नीतीश

नालंदा

राजगीर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की उपस्थिति में पुलिस अवर निरीक्षक (2018 बैच) का दीक्षांत परेड समारोह आयोजित हुआ। परेड समारोह में कुल 1582 प्रशिक्षु पुलिस अवर निरीक्षकों ने भाग लिया, इनमें 615 महिला पुलिस पदाधिकारी भी शामिल रहीं। न्याय के साथ विकास और सशक्त महिला, सक्षम महिला के सूत्र वाक्य के साथ समारोह को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने सभी प्रशिक्षु अवर निरीक्षकोंं को बधाई दी1 अपने संबोधन में सीएम ने कहा कि झारखण्ड अलग होने के बाद बिहार में ट्रेनिंग की व्यवस्था नहीं थी। राजगीर में पुलिस अकादमी के निर्माण किया गया। यहां पुलिस बल के प्रशिक्षण के लिए बेहतर सुविधाएं प्राप्त हैं। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा सबसे जरूरी है और राज्य में कानून का राज्य कायम रखना मेरी प्राथमिकता है। सीएम नीतीश ने कहा कि राजगीर में दो हजार पुरुष और दो हजार महिला कर्मियों की भी ट्रेनिंग होगी। आज 1582 अवर निरीक्षक आज बिहार को मिल रहा है। महिलाओं को सबसे पहले पंचायत में 50 प्रतिशत की घोषणा हमने की। पुलिस बल में आज बड़ी संख्या में महिला पुलिस बल है।

इसे देखकर आज बहुत खुशी होती है। देश में किसी भी राज्य से ज्यादा महिला पुलिस बल है। दूसरे किसी भी राज्य में पुलिस बल में इतनी महिलाएं नहीं हैं। दूसरे राज्य में इतना होता तो पता नहीं कितना विज्ञापन छपता। सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में महिलाओं की सुरक्षा सबसे प्राथमिकता पर है। सभी थानों में महिला का होना अनिवार्य कर दिया गया है। पहले किसी भी थाने में कोई काम नहीं हुआ था। आज बिहार के थाने देखने लायक हैं। थानों के भवनो में सभी सुविधाएं प्राप्त हैं। पटना का पुलिस मुख्यालाय देखने लायक है। हथियार को लेकर भी सरकार ने बड़े फैसले लिए हैं। बिहार में थाने को लेकर नए फैसले लिए गए हैं। समाज में कानून का राज कायम करना ही हमारा उद्देश्य है। कुछ लोग गलत काम करते रहते हैं, हमें उसकी परवाह नहीं। बिहार में महिलाओं की मांग पर ही शराबबंदी हुई। आज महिला पुलिस बल पर बड़ी जिम्मेदारी दी जा रही है। आज महिलाओं की पुलिस बल में संख्या बेहतर हो गई है। अब ये महिला पुलिस बल शराबबंदी पर सख्ती बरतें। शराब बंदी की सफलता में महिला पुलिस बल की बड़ी भागीदारी होगी।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget