हार कर भी हीरे जैसी चमकीं लड़कियां


नई दिल्ली

हम हार की बात नहीं करेंगे। क्योंकि यह हार नहीं है। क्या हुआ सोना या चांदी हाथ में नहीं है। हमारे पास हीरे हैं। ऐसे हीरे जो ओलंपिक में चमके हैं। पूरी दुनिया को उन्होंने अपनी चमक दिखाई है। भारतीय महिला टीम सेमीफाइनल में अर्जेंटीना से 2-1 से हार गई। पर ब्रॉन्ज का मौका उनके पास अभी भी है। अर्जेंटीना की तेजतर्रार टीम के मुकाबले जिन्हें कहीं भी मुकाबले में नहीं माना जा रहा था, उन लड़कियों ने क्या गजब खेल दिखाया। आखिरी 10 सेकंड तक उन्होंने विपक्षी टीम की धड़कनें बढ़ाए रखीं। ये लड़कियां हारकर भी हमारा ही नहीं, दुनिया का भी दिल जीत गईं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल और कोच सोजर्ड मारिजने से टेलीफोन पर बातचीत की। उन्होंने महिला हॉकी टीम के प्रदर्शन पर गर्व जताया। पीएम ने उनसे कहा कि महिला टीम एथलीटों का एक कुशल समूह है जिन्होंने बहुत मेहनत की है। उन्हें आगे देखना चाहिए। पीएम ने यह भी कहा कि जीत और हार जीवन का हिस्सा है और उन्हें निराश नहीं होना चाहिए। प्रधानमंत्री ने लवलीना बोरगोहेन से हल्के-फुल्के अंदाज में कहा कि उनका जन्म गांधी जयंती को हुआ है...और जहां गांधी जी ने अहिंसा की बात की, तो वह अपने पंचेज के लिए प्रसिद्ध हैं! 

बुधवार का दिन भारत का खेल- भारतीय महिला हॉकी टीम अर्जेंटीना के खिलाफ महिला हॉकी का सेमीफाइनल मुकाबला 1-2 से हार गई। ब्रॉन्ज मेडल के लिए उसका सामना ग्रेट ब्रिटेन से होगा।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget