पटना पर बाढ़ का संकट

गंगा खतरे के निशान से 34 सेमी ऊपर

पटना

राजधानी पटना पर बाढ़ का संकट धीरे-धीरे गहराता जा रहा है। गंगा नदी पटना के गांधी घाट पर खतरे के निशान से 34 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। बाढ़ के पानी ने गांवों में पानी भर दिया है, जिससे हजारों लोग सूखे और सुरक्षित स्थानों की तलाश में अपना घर छोड़ने को मजबूर हैं। प्रभावित इलाकों में सड़क संपर्क भी बाधित हो गया है। पटना के फतुहा इलाके में बाढ़ के पानी से पूरा शहर प्रभावित है। पटना के ग्रामीण इलाकों में बाढ़ का पानी घुस चुका है और अब पटना शहर पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। पटना में गंगा और पुनपुन नदियां खतरे के निशान से लगातार ऊपर बह रही हैं। गुरुवार भी गंगा के जलस्तर में वृद्धि दर्ज की गई है। गंगा नदी पटना के गांधी घाट पर खतरे के निशान से 34 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। पुनपुन नदी का जलस्तर भी पिछले 24 घंटे में लगातार बढ़ा है और यह खतरे के निशान से लगभग 156 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। पटना के श्रीपालपुर में पुनपुन का जलस्तर खतरे के निशान से 193 सेंटीमीटर ऊपर जा पहुंचा है। पुनपुन में उफान की वजह से सुरक्षा बांध में दरार आ रही है, जिसके बाद पटना के एक इलाके पर बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है। दारधा नदी और पुनपुन नदी से ग्रामीण इलाके में बाढ़ के हालात बिगड़ गए हैं। सुरक्षा बांध को बचाने के लिए सैंड बैग डालने का काम शुरू किया जा चुका है। मसौढ़ी और धनरूआ में सुरक्षा बांध पर निगरानी बढ़ा दी गई है। जिला प्रशासन जल संसाधन विभाग की टीम के साथ मिलकर लगातार बांधों की मरम्मती में जुटा हुआ है। केंद्रीय जल आयोग में जो ताजा आंकड़े जारी किए हैं उसके मुताबिक पटना में गंगा, पुनपुन, फल्गु और दारधा नदी के जल स्तर में वृद्धि जारी है। मसौढ़ी समेत धनरूआ, संपतचक, फतुहा, खुसरूपुर, बख्तियारपुर के टाल और दियारा वाले इलाकों में बाढ़ का पानी चल रहा है। गंगा नदी पटना के गांधी घाट पर खतरे के निशान से 34 सेंटीमीटर ऊपर बह रही हैं, जबकि हाथीदेह घाट में गंगा का जलस्तर खतरे के निशान से 29 सेंटीमीटर ऊपर है। राहत की बात यह है कि फिलहाल सोन नदी के जल स्तर में इजाफा नहीं हो रहा है। सोन नदी का जलस्तर स्थिर है। पुनपुन का सुरक्षा बांध अगर टूटता है तो पटना बाईपास के दक्षिणी इलाके में बाढ़ का पानी पहुंच सकता है। बाढ़ के खतरे को देखते हुए पटना जिला प्रशासन अलर्ट मोड में है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को ही अधिकारियों के साथ बाढ़ के खतरे पर समीक्षा बैठक की थी और बाढ़ से बचाव के लिए राजधानी में सभी तरह के सुरक्षात्मक कदम उठाने का निर्देश दिया था।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget