नवजात को बोतल से कब दूध दिया जाना चाहिए?


बच्चों की देखभाल के दौरान माता-पिता को कई सवालों का सामना करना पड़ता है. सबसे पहला सवाल होता है बोतल से कब दूध दिया जाना चाहिए, बच्चे के लिए बोतल शुरू करने का सही समय क्या है? क्या कांच की बोतल प्लास्टिक की बोतल से बेहतर है? इस तरह के सवावों का जवाब अभिभावक जानकर अपने मासूम की ठीक देखभाल कर सकते हैं. शिशु की देखभाल करना आसान काम नहीं है, खास कर नए माता-पिता के लिए. बच्चों के स्वास्थ्य, भोजन, सोने से संबंधित सवालों का सामना करते पाया जाना आम है. अपने बच्चों को बोतल से दूध पिलाने के बारे में ज्यादातर नए माता-पिता की सबसे आम चिंताओं में से एक है. आपको इस बारे में कुछ बुनियादी सवालों के जवाब जानना चाहिए.

बच्चे को बोतल से दूध शुरू करने का सही समय कब है?

विश्व स्वास्थ्य संगठन की सिफारिश के मुताबिक नवजात को विशेष रूप से मां का दूध पहले छह महीनों के लिए जरूर पिलाया जाना चाहिए. इससे उनके इम्यून सिस्टम बनने में मदद मिलती है और कई बीमारियों से बचाने का काम करता है. बोतल शुरू करने से पहले, सुनिश्चित करें कि आपका मासूम स्वस्थ और फिट है. शिशुओं को आम तौर से बोतल की आदत पड़ने में दो से तीन सप्ताह लगते हैं. लेकिन खास मामलों में अगर मां के दूध की कमी के चलते छह महीनों तक मिलना संभव न हो, तो आप जन्म के दो या तीन सप्ताह बाद बच्चे को बोतल से परिचय करा सकते हैं.

क्या कांच की बोतल प्लास्टिक की बोतल से बेहतर है?

बाजार में तीन प्रकार के बोतल कांच, प्लास्टिक और स्टील के मिलते हैं. सभी प्रकार की बोतलों के फायदे और नुकसान हैं. प्लास्टिक की बोतल हल्के होते हैं और टूटते नहीं हैं, लेकिन ज्यादातर माता-पिता माइक्रोप्लास्टिक के डर से प्लास्टिक की बोतल को नजरअंदाज करते हैं. दूसरी तरफ, कांच की बोतल किसी रसायन को बहाकर दूध में नहीं ले जाते हैं. उन्हें लंबे समय तक सुरक्षित रखा जा सकता है लेकिन फूटने का डर बना रहता है. तीसरा विकल्प स्टील की बोतल हैं, जो गैर दूषित, वजन में हल्का और सुविधाजनक होते हैं. अब ये आपके ऊपर है किस प्रकार की बोतल इस्तेमाल करना पसंद करेंगे.


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget