हाईटेंशन तार की चपेट में आई नाव

पटना

15 अगस्त के दिन जहां पूरा देश आजादी दिवस को माना रहा है। वहीं, दूसरी तरफ बड़ा हादसा हो गया। पटना के कच्ची दरगाह घाट के पास शनिवार को यात्रियों से भरी एक नाव हाईटेंशन तार की चपेट में आ गई। हादसे में 38 लोग घायल हुए हैं, जबकि चार लापता होने की सूचना हैं। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई, जिसके बाद लापता लोगों की तलाश में NDRF और SDRF की टीमें गंगा में सर्च ऑपरेशन चला रही हैं। मौके पर मौजूद फतुहा के DSP ने चार लोगों के लापता होने की पुष्टि की है। घायलों का इलाज जारी है। पुलिस के अनुसार, घायलों का इलाज पटना के कच्ची दरगाह स्थित अलग-अलग नर्सिंग होम में चल रहा है। गंभीर रूप से घायलों का NMCH में भी इलाज चल रहा है। घटनास्थल पर पटना सिटी और वैशाली के SDO और SDPO चार अधिकारी दल बल के साथ मौजूद हैं। 

नदी में बढ़े जलस्तर के कारण हुआ हादसा

जानकारी के मुताबिक, यात्रियों से लदी नाव पटना से वैशाली के राघोपुर (रुस्तमपुर) जा रही थी। अधिकारियों की मानें तो गंगा नदी का वाटर लेवल बढ़ जाने से हाईटेंशन तार की ऊंचाई का रात के अंधेरे में पता नहीं चल सका। इसी वजह से हादसा हुआ। घायल वीरेंद्र दास ने बताया कि जब नाव गंगा के बीच पहुंच गई थी, तो नदी में बढ़े जलस्तर के कारण नाव की पतवार हाईटेंशन तार से टकरा गई। नाव में सवार काफी सारे लोग घायल हो गए। स्थानीय लोगों ने घटना का जिम्मेदार राज्य सरकार को ठहराया। घटना को 

लेकर स्थानीय लोगों में राज्य सरकार के खिलाफ गहरा आक्रोश देखा गया। स्थानीय लोगों ने पूरे मामले पर राज्य सरकार को सीधे तौर पर दोषी माना है। उन्होंने कहा कि दियारावासियों को पिछले 15 सालों में अब तक पक्का पुल नहीं दिया गया है, जिसके कारण मजबूरी में लोग अपने रोजी रोजगार को लेकर नाव की खतरनाक सवारी करने को मजबूर हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget