शरद पवार की मौजूदगी में बीडीडी चाल परियोजना का भूमिपूजन

सपने में भी नहीं सोचा था करूंगा पुनर्विकास का शुभारंभ: ठाकरे  


मुंबई 

ठाकरे सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना बीडीडी चाल के पुनर्निर्माण का भूमिपूजन रविवार को किया गया। राकांपा प्रमुख शरद पवार की उपस्थिति में आयोजित भूमिपूजन समारोह के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं बीडीडी चाल परियोजना का भूमिपूजन करूंगा। इस काम के लिए यहां की जनता ने फूल बिखेरकर मुझे जो प्यार दिया है उसे मैं कभी नहीं भूल सकता। भूमिपूजन कार्यक्रम में सड़क के दोनों ओर लोग आ-जा रहे थे इसलिए मुझे कार से उतरकर पैदल चलना पड़ा। अब इसके पुनर्विकास का समय आ गया है। हम उस कर्ज को नहीं चुका सकते जो यहां की जनता ने हमें दिया।

मुंबई के विकास में बीडीडी चाल का बड़ा योगदान

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुंबई के विकास में बीडीडी चाल का बड़ा योगदान है। इसी चाल में हमारा इलाज करने वाले होम्योपैथिक डॉक्टर रहते थे। उस समय मैं शिवसेना प्रमुख के साथ यहां आता था। उनके साथ यहां बड़ी संख्या में रहने वाले जनता का मैं ऋणी हूं और रहूंगा। यह चाल ऐतिहासिक है, जो मेरे पैदा होने से पहले बनाई गई थी। इस चाल से कई कवि, गायक, लेखक और क्रांतिकारी पैदा हुए हैं, जिसे भुलाया नहीं जा सकता।

कोरोना और बाढ़ संकट के बीच मुख्यमंत्री के नेतृत्व में विकास काम शुरू : पवार

बीडीडी चाल पुनर्विकास भूमिपूजन कार्यक्रम में उपस्थित राकांपा प्रमुख शरद पवार ने मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि करीब पिछले डेढ़ साल से महाराष्ट्र भारी संकट से गुजर रहा है। चाहे वो कोरोना काल का दौर हो या राज्य में आई भारी बाढ़, लेकिन अच्छी बात यह है कि मुख्यमंत्री ने इन संकटों से उबरने का साहस दिखाया। राज्य के विकास को गति देने की प्रक्रिया सीएम ने शुरू कर दी है। पवार ने कहा कि सभी मेहनतकशों के लिए आवास की समस्या का समाधान करने के लिए बड़ा कदम उठाया जा रहा है,  यह एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक काम है।

36 महीने में पूरा होगा निर्माण कार्य : आव्हाड

राज्य के गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने कहा कि इस बीडीडी चाल में रामनाथ पारकर जैसे कई क्रांतिकारी, लेखक और क्रिकेटर रहते थे।  बीडीडी चाल के भूखंडों का पुनर्विकास करते समय कई कठिनाइयों और कई चुनौतियां का सामना करना पड़ा, लेकिन आखिरकार रास्ता मिल गया। आव्हाड ने बताया कि अगले 36 महीने में चाल के पुनर्विकास का काम पूरा कर लिया जाएगा। सेवानिवृत्त पुलिसकर्मियों और 2010 से यहां रह रहे पुलिसकर्मियों समेत करीब 3,000 पुलिसकर्मियों को आवास मुहैया कराने का प्रस्ताव है। इसके साथ कमाठीपुरा और कोलाबा झोपड़पट्टी का भी पुनर्विकास किया जाएगा। भूमिपूजन कार्यक्रम में राजस्व मंत्री बालसाहेब थोरात, पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे, कपड़ा मंत्री असलम शेख, राज्य मंत्री सतेज पाटिल, महापौर किशोरी पेडणेकर, सांसद राहुल शेवाले, सांसद अरविंद सावंत, विधायक सदा सरणवकर, अजय चौधरी सहित म्हाडा के बड़ी संख्या में अधिकारी उपस्थित थे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget