'संसद का सम्मान करना कांग्रेस के संस्कार में नहीं'


नई दिल्ली

पेगासस जासूसी विवाद और विवादास्पद कृषि कानूनों सहित अन्य मुद्दों पर संसद के दोनों सदनों में जारी गतिरोध के लिए कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए भाजपा ने गुरुवार को आरोप लगाया कि संसद का सम्मान उसके संस्कारों में ही नहीं है। पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पेगासस मुद्दे को ‘प्रायोजित षड़यंत्र’ बताया और कहा कि सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है, लेकिन कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल इसे लेकर गंभीर नहीं है। विपक्षी दलों पर चर्चा से भागने का आरोप लगाते हुए प्रसाद ने कहा कि मानसून सत्र में हंगामे और व्यवधान के चलते जनता के 130 करोड़ रुपए अभी तक बर्बाद हो चुके हैं। संसद का सम्मान कांग्रेस के संस्कार में नहीं है। प्रसाद ने कहा कि मानसून सत्र की शुरुआत से ठीक पहले पेगासस की ‘पूरी कहानी’ शुरु की जाती है, लेकिन अभी तक किसी ने यह सबूत नहीं दिया कि इनका फोन टैप हुआ है। क्या आज तक इन्होंने कोई सबूत दिया है कि इनका फोन टेप हुआ है... नहीं... संसद के शुरु होने के पहले कुछ नंबर मार्केट में आ गए... कुछ ऐसे लोगों के द्वारा आए, जिनका मोदी विरोधी एजेंडा बहुत स्वाभाविक है। पेगासस प्रायोजित षडयंत्र था... संसद के शुरु होने के ठीक पहले... ताकि संसद में हंगामा किया जाए। जो इसमें शामिल हैं उनकी पीएम मोदी के बारे क्या राय है यह हम सभी जानते हैं। सरकार संसद में चर्चा के लिए तैयार हैं लेकिन विपक्ष, खासकर कांग्रेस इसे लेकर गंभीर नहीं है। कांग्रेस ने 1947 के बाद से करीब 50 साल राज किया। लेकिन संसदीय मर्यादा के मद्देनजर आज उनका व्यवहार कितना उचित है ये देश को जानना जरूरी है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget